एनसीईओए ने सीबीए एक्ट के संशोधन के खिलाफ केदला में प्रदर्शन किया

मांडू: सीसीएल हजारीबाग कोयला क्षेत्र के केदला भूगर्भ परियोजना के पीट ऑफिस में श्रमिक संगठन एनसीईओए ( सीटू) के बैनर तले सीबीए एक्ट 1957 कुछ संशोधन कु खिलाफ मंगलवार को जोरदार प्रदर्शन किया ! प्रदर्शन की अध्यक्षता काॅ. प्रभात कुमार की अगुवाई में हुई! प्रदर्शन कर रहे कोयला कामगार भाईयों को संबोधित करते हुए एनसीईओए के केन्द्रीय सदस्य बलभद्र दास ने कहा की मोदी सरकार ने वर्तमान मानसून सत्र में सरकार एक मजदूर विरोधी विधेयक, कोयला धारक क्षेत्र ( अर्जन और विकास) संशोधन विधेयक 2021 के द्वारा सीबीए एक्ट – 1957 को पुनः संशोधित करने जा रही है! संशोधित करने का उद्देश्य है कि वाणिज्यिक खनन के तहत आने वाली कोयला खानों को सरकार स्वयं कोयला खनन के लिए जमीन अधिग्रहण कर निजी मालिकों को दे सके! सरकार का उद्देश्य निजी कोयला खानों को बढ़ावा देना है! सरकार की मंशा स्पष्ट है कि सरकारी खानों को बंद करना है जिसे हम सभी मजदूर भाइयों सरकार के गलत इरादों का विरोध करते हैं! मौके पर कन्हैया रविदास, सुरेश रजवार, दरश राम धोबी, गोबिंद मिस्त्री, सुनिल कुमार रावत, एवं सैकड़ों मजदूर उपस्थित थे