एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

घाघरा : कार्यालय घाघरा के सभागार में ई-श्रम कार्ड युद्धस्तर पर बनाने के उद्देश्य से घाघरा प्रमुख सुनिता उराँव, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी घाघरा विष्णुदेव कच्छप एवं श्रम अधीक्षक गुमला एतवारी महतो की संयुक्त अध्यक्षता में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन सम्पन्न हुआ। कार्यशाला में मुख्य रूप से घाघरा प्रखंड के मनरेगा कर्मी, पंचायत सेवक, कर्मचारी, रोजगार सेवक, आँगनबाड़ी सेविका/सहायिका, सहियाओं एवं प्रदान प्रतिनिधियों को ई-श्रम कार्ड बनाने के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए श्रम अधीक्षक के द्वारा बताया गया 16 से 59 वर्ष के श्रमिक/मजदूर जो असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे है वैसे श्रमिकों का निःशुल्क पंजीकरण कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) में किया जाना है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों का डाटाबेस तैयार करने के लिए ई-श्रम पोर्टल लांच किया गया है। उन्होंने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को अब ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराने के बाद सरकार की विभिन्न योजनाओं का मिलने वाले लाभ के बारे में विस्तृत जानकारी दी। भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार विभाग के नेशनल डाटाबेस ऑफ अन आर्गेनाईज्ड वर्क्स कार्यक्रम के तहत् कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के माध्यम से यह कार्य किया जा रहा है। पंजीकरण के बाद श्रमिकों व मजदूरों के यूनिक आई कार्ड बनाएं जाते है। इस यूनिक आईडी कार्ड बनते ही असंगठित श्रमिकों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना सहित सरकार की ओर से दी जाने वाली अन्य कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी मिलेगा। यूनिक आईडी कार्ड के माध्यम से श्रमिकों की विभिन्न गतिविधियों और वह किस राज्य से किस राज्य में जा रहे है उसे भी आसानी से ट्रैक किया जा सकेगा। आपदा के समय इन असंगठित श्रमिकों का आसानी से मदद पहुँचाई जा सकेगी। सरकार रोजगार के अवसर भी सृजित कर सकेगी। आवेदक किसी भी संगठित समूह या संस्था का सदस्य नहीं होनी चाहिए।

पंजीकरण के लिए आवश्यक कागजात व शर्ते
पंजी के लिए आवेदक के पास आधार कार्ड नंबर, बैंक पासबुक की फोटो कॉपी, मोबाईल/फोन नम्बर होना अनिवार्य है। श्रमिक आयकरदाता नहीं होनी चाहिए। ईपीएफओ और ईएसआईसी का सदस्य नहीं होना चाहिए। इस संबंध में अधिक जानकारी श्रम विभाग कार्यालय से ली जा सकती है।

अहर्त्ता पूरा करने वाले कर्मी/श्रमिक/मजदूर
असंगठित क्षेत्र के श्रमिक यथा-निर्माण श्रमिक, मनरेगा श्रमिक, आँगनबाड़ी सेविका/सहायिका, आशा कर्मी, रसोईया, प्रवासी मजदूर, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, घरेलू कामगार, कृषि श्रमिक, मछुआरे, जल सहिया, सब्जी-फल बिक्रेता, ऑटो व रिक्शा चालक, दूध बेचने वाले, छोटे एवं सीमांत किसान, खेतीहर मजदूर, पशुपालन में लगे लोग, ईंट भट्टा और पत्थर खदानों में काम करने वाले, भवन निर्माण श्रमिक, समाचार पत्र बिक्रेता, छोटे दुकानदार, नाई, आरा मिलों में काम करने वाले, रेशम उत्पादन कार्यकर्त्ता आदि असंगठित क्षेत्र के कामगार/श्रमिक।

ई-श्रम कार्ड हेतु ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

* सबसे पहले भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की अधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर जाना पड़ेगा। थोड़ा नीचे जाने पर आपको ई-श्रम पंजीकरण का विकल्प/ऑप्शन दिखाई देगा।

* इस रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण विकल्प पर क्लिक करने पर आपको ई-श्रम रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा।

* इस पेज पर मांगी गई जानकारियों को भरने के बाद आपको सेंड ओ.टी.पी. पी क्लिक करना होगा। जिसके बाद आपको अपना मोबाईल नम्बर पर एक ओ.टी.पी. मिलेगा। इस ओ.टी.पी. को डालने के बाद आपको सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा।

* उसके बाद आपके सामने एक और पेज खुलेगा जिस पर आपको अपना आधार नम्बर डालना है और सबमिट विकल्प पर क्लिक करना है।

* उसके बाद एक बार फिर आपको एक नया ओ.टी.पी. आपके मोबाईल पर मिलेगा जिसे डालने के बाद आपको वैलिडेट विकल्प पर क्लिक करना है।

* इसके बाद आपको एक और नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपनी निजि जानकारी प्रदान करनी होगी जैसेरू मोबाईल नम्बर, विवाहित है या नहीं, आपके पिता का नाम, आप किस जाति के है, आदि।

* यदि आप किसी को नॉमिनी बनाना चाहते हैं तो उसकी जानकारी भी अगले पेज पर दे सकते है।

* उसके बाद अगला पेज खुलेगा जिसमें आपकों घर का पता और संबंधित जानकारी देना होगा।

* अब अगले पेज पर आपको शैक्षणिक योग्यता बताना होगा।

* आप किस प्रकार का व्यवसाय या काम कर रहे इसकी भी जानकारी अगले पृष्ठ पर देना होगा। इसके लिए सरकार द्वारा एक सूची भी उपलब्ध है।

* अगले पृष्ठ पर आपको बैंक डिटेल और जानकारी प्रदान करना होगा।

* अंततः सारी जानकारी को एक बार जाँचने के बाद आपको सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा।

* उसके बाद आपको अपना ई-श्रम कार्ड दिखने लगेगा अब आपको डाऊनलोड विकल्प पर क्लिक करना है जिससे आपका ई-श्रम कार्ड डाऊनलोड हो जाएगा। जिसे प्रिंट लेकर आगे योजनाओं का लाभ लेने के लिए सुरक्षित रख लेना होगा।

कार्यशाला के दौरान जिला विज्ञान पदाधिकारी गुमला शुशील कुमार द्वारा सुचारू रूप से ई-श्रम कार्ड बनाने से संबंधित विस्तृत तकनीकि जानकारी दी। साथ ही उपस्थित लोगों से ई-श्रम में निबंधन करने के लिए लोगों को प्रेरित करने को कहा।

कार्यशाला में उपस्थिति

कार्यशाला में घाघरा प्रमुख सुनिता उराँव, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी घाघरा विष्णुदेव कच्छप, श्रम अधीक्षक गुमला एतवारी महतो, जिला विज्ञान पदाधिकारी गुमला शुशील कुमार, जिला परिषद सदस्य तिम्बू उराँव, प्रज्ञा केन्द्र प्रबंधक रंजन नन्दा, प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा, प्रदान घाघरा, एमवीएम घाघरा,घाघरा प्रखण्ड के पंचायत सेवक, कर्मचारी, रोजगार सेवक, आँगनबाड़ी सेविका/सहायिका, सहिया व अन्य उपस्थित थे।