पाकुड़ डीसी ने कोरोना के तीसरी लहर से पहले की तैयारियों की समीक्षा

पाकुड़: कोविड-19 के संभावित तीसरे लहर में यह अनुमान लगाया जा रहा है की इस लहर में बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। ऐसे स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पूर्व से ही तैयारी आवश्यक है। बच्चों को कोविड से बचाने एवं चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर सदर अस्पताल के सभागार कक्ष में उपायुक्त सह जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष कुलदीप चौधरी ने मेडिकल टास्क फोर्स की बैठक की। बैठक में उपायुक्त ने जिला के अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ संभावित संक्रमण को रोकने के लिए सदर अस्पताल में चाइल्ड फ्रेंडली वार्ड बनाने और बच्चों को समुचित इलाज के साथ-साथ आधारभूत सुविधा मुहैया कराने को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सदर अस्पताल में बनाए जाने वाले 50 बेड के चाइल्ड फ्रेंडली वार्ड में ऑक्सीजन, आईसीयू सुविधा के आलावे अन्य संसाधन उपलब्ध करवाने के साथ-साथ बच्चों का शारीरिक और मानसिक रूप से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो , इसका ध्यान रखने की बात उपायुक्त के द्वारा कही गई। वही इसके साथ साथ टास्क फोर्स के सदस्यों को उपायुक्त के द्वारा चाइल्ड फ्रेंडली वार्ड में अन्य समूचित सुविधा उपलब्ध करवाने के बाबत कई दिशा निर्देश भी दिया गया गया।
बैठक के दौरान मौके पर पुलिस अधीक्षक मणिलाल मंडल, उपविकस आयुक्त अनमोल कुमार सिंह, सिविल सर्जन डॉ रामदेव पासवान, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी डॉ चंदन, डॉक्टर एस के झा, डॉक्टर अमित कुमार सहित अन्य मौजूद थे।