गिरफ्तार तीन लोगों को पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड के लिए किया कोर्ट में पेश

कुंडहित: हाॅजग्राम हत्याकांड में कुंडहित से गिरफ्तार 2 पुरुष तथा 1 महिला सहित तीन लोगों को ट्रांजिट रिमांड के लिए गुरुवार को जामताड़ा कोर्ट ले जाया गया। जानकारी के अनुसार पूर्वी वर्धमान जिले के हॉजग्राम थाना के एक ग्रामप्रधान के पुत्र की हुई हत्या मामले में बुधवार को बंगाल के क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा कुंडहित प्रखंड में छापेमारी की गई थी। छापेमारी के दौरान धेनुकडिह मोड़ स्थित धोबना गांव के निवासी लखी मुर्मू के मकान में दो व्यक्ति सहित एक महिला दो तथा दो नाबालिग बच्चियां पुलिस के हाथ लगी। इनमें पकड़े गए दोनों लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जबकि महिला और उसकी दो नाबालिग बच्चियों को पुछताछ के बाद वापस बंगाल भेज दिया गया। महिला का पति छापेमारी के दौरान भागने में कामयाब हुआ। क्राइम ब्रांच की टीम को मुख्य रूप से उसी की तलाश थी। क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़े दोनों लोगों की पहचान मुंगेर जिला निवासी मोहम्मद इम्तियाज तथा मोहम्मद पप्पू के रूप में हुई है। क्राइम ब्रांच की टीम ने उक्त लोगों को शेल्टर देने के आरोप में धोबना निवासी लखी मुर्मू को भी गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच द्वारा गिरफ्तार किए गए सभी लोगों को बुधवार को पश्चिम बंगाल के पूर्वी वर्तमान जिला अंतर्गत हाॅजग्राम पुलिस के हवाले कर दिया गया। हाॅजग्राम की पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों का कुंडहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल जांच करा कर ट्रांजिट रिमांड के लिए जामताड़ा कोर्ट ले गई। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हॉजग्राम में प्रधान पुत्र के की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा अनुसंधान किया जा रहा था। अनुसंधान के क्रम में मोबाइल लोकेशन के आधार पर बुधवार को चार सदस्यीय क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा कुंडहित के धेनुकडिह में छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान लखी मुर्मू के घर से उक्त आरोपियों को पकड़ा गया। आरोपियों पर अवैध हथियार का लेनदेन करने का आरोप है। वहीं आरोपियों को शेल्टर देने के आरोप में लखी मुर्मू को भी गिरफ्तार कर ले जाया गया। जबकि मुख्य आरोपी छापेमारी के दौरान फरार होने में कामयाब रहा। क्राइम ब्रांच द्वारा की गई छापेमारी और हुई गिरफ्तारी को लेकर क्षेत्र में चर्चा का माहौल गरमाया हुआ है। लोग तरह तरह की चर्चा कर रहे हैं।