सुरक्षित बचपन , सुरक्षित राष्ट्र : प्रभाकर

बोकारो:  आज चास प्रखंड के संतनपुर ग्राम पंचायत , संथालडीह टोला मे बाल अधिकार सरंक्षण जागरूकता अभियान मनोवैज्ञानिक सह बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ प्रभाकर कुमार की अगुवाई में स्थानीय लोगों व युवाओं की सहभागिता से बच्चों , उनके माता पिता अभिभावकों समाज समुदाय ग्रामीणों की उपस्थिति में करवाया गया ।

बाल अधिकार कार्यकर्ता सह कार्यक्रम के निदेशक डॉ प्रभाकर कुमार ने कहा कि बाल अधिकारों की जानकारी संवेदनशीलता के लिये अनिवार्य है जहाँ बच्चों के साथ साथ उनके माता पिता अभिभावकों को भी बाल मुद्दे की अद्यतन जानकारी रहने से बच्चों के अधिकारों की सुरक्षा करना आसान हो पाता है । सुरक्षित बचपन ही सुरक्षित भारत का निर्माण कर सकती है ।

डॉ कुमार ने बतलाया बाल विवाह , बाल श्रम , बाल दुर्व्यवहार व दुर्व्यापार , बाल उत्पीड़न मुक्त समाज निर्माण करनी है , लिंग भेद व असमानताओं से एवं विभिन्न पूर्वाग्रहों से मुक्त समाज निर्माण हेतु बाल हित मे संवेदनशीलता अनिवार्य है ताकि बचपन को सही दिशा दी जाए । बाल अधिकारों की जानकारी के साथ साथ बाल कानूनों , बाल मुद्दे , संकट कालीन नो 1098 , बाल कल्याण पुलिस पदाधिकारी की भूमिका , किशोर न्याय अधिनियम समेत सुरक्षित स्पर्श असुरक्षित अस्पर्श व पोक्सो कानून की जानकारी उदाहरणों के साथ रखी गयी । गांवों में बाल यौन उत्पीड़न के प्रकारों की चर्चा करते हुए चुप्पी तोड़ने का संकल्प बच्चों मे करवाई गई ।

संतनपुर पंचायत की पूर्व मुखिया नंदिता भट्टाचार्य ने कहा कि बालिकाओं की सुरक्षा महत्वपूर्ण । बाल अधिकारों के अंतर्गत सुरक्षा का अधिकार महत्वपूर्ण । बालिकाओं को सुरक्षित रख सभ्य समाज निर्माण , जिसमें समाज के प्रत्येक व्यक्ति की जवाबदेही महत्वपूर्ण । जागरूकता अभियान को इन्होंने महत्वपूर्ण बतलाया । समाज सेवी योगो पूर्ति ने भी बतलाया कि बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता अभियान समाज के नव निर्माण में सहायक स्तंभ का कार्य ।

सभी बच्चों एवं ग्रामीणों मे मास्क एवं चॉकलेट वितरित कर मीठा सुखद अहसास करवाया गया । स्थानीय लोगों में निमाई चंद्र सोरेन , शिबू सोरेन , मुक्तिलाल सोरेन , चंद्रलाल किस्कू , पूरन सोरेन , फुलेश्वर सोरेन , हेमन्त किस्कू , राम कुमार हांसदा , सुरेंद्र किस्कू , लब्धन सोरेन , प्रकाश मिश्रा , युवाओं में इंद्रजीत कुमार , जीतू कुमार समेत लोगों की उपस्थिति रही ।