विद्यालय रसोईया संयोजिका संघ ने फूंका पीएम का पुतला

गोड्डा: मध्याह्न भोजन योजना का नाम बदल कर प्रधानमंत्री पोषण योजना किए जाने के कारण विद्यालयों में कार्यरत रसोईया एवं संयोजिका को यह डर सता रहा है कि अब यह योजना एनजीओ के हवाले कर दी जा सकती है। परिणाम स्वरूप विद्यालय में खाना बनाने वाली रसोईया एवं संयोजिका को पद से हटा दिया जाएगा। इसके विरोध में विद्यालय रसोईया संयोजिका संघ की ओर से गुरुवार को जिला मुख्यालय में प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया गया।
संघ के नेताओं ने कहा कि विद्यालय में करीब 15 साल से चल रहे मध्याह्न भोजन योजना को प्रधानमंत्री ने ” प्रधानमंत्री पोषण योजना” के नाम से चलाने का फैसला लिया है । कहा गया है कि अब विद्यालय में बच्चों को पका हुआ भोजन परोसा जाएगा। इससे साफ जाहिर होता है कि इस योजना को एनजीओ को देने की तैयारी की जा रही है। एमडीएम को एनजीओ को देने से झारखंड में कार्यरत करीब 80 हजार रसोइया को कार्य से बेदखल कर दिया जाएगा । इसके विरोध में 21 अक्टूबर को झारखंड के सभी जिला मुख्यालय पर प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया गया।
यहां कारगिल चौक पर पुतला दहन कार्यक्रम में सैकड़ों रसोईया संयोजिका शामिल हुईं। इस कार्यक्रम का नेतृत्व प्रभारी मनोज कुमार कुशवाहा ने किया। मौके पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता अनीता देवी ने की। इस कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष सुरेश्वरी देवी, प्रवक्ता विद्या विश्वास, प्रखंड अध्यक्ष रूबी देवी, जितु देवी, पिंकी सोरेन, सरिता सोरेन, रैबुन बीवी, उर्मिला देवी, लीला देवी, मीरा देवी, उर्मिला देवी, ऐशा बीवी,जेबुन बीवी, आशा देवी, मो सुशीला, लक्ष्मी देवी, अनारो देवी, हसीना बीवी,करनी देवी, कलावती देवी, ललिता देवी, रेखा देवी, पूर्व जिला अध्यक्ष सुधा जायसवाल,जया जयश्री आर्या के अलावे भाकपा माले जिला मंत्री राम दास साह शामिल हुए।