ईसीएल हॉस्पिटल में जल्द शुरू करें डेडीकेटेड कोविड अस्पताल का संचालन: डीसी

– उपायुक्त ने किया औचक निरीक्षण, दिया निर्देश

गोड्डा/महागामा: रविवार को उपायुक्त ने महागामा स्थित ऊर्जानगर के ईसीएल अस्पताल में बनाए जा रहे डेडिकेटेड कोविड अस्पताल का औचक निरीक्षण किया । निरीक्षण के क्रम में उन्होंने ईसीएल के अधिकारियों को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में त्वरित गति से ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड की तैयारी करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए, ताकि जल्द से जल्द डेडीकेटेड कोविड अस्पताल का संचालन किया जा सके ।
डेडीकेटेड कोविड अस्पताल महागामा को आरंभ कराने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा कोविड रोगियों के उपचार में प्रयोग की जाने वाली सामग्रियों यथा:- पेशेंट मॉनिटर पांच पीस, एन -95 मास्क, नेबुलाइजर- 8 पीस, थ्री लेयर मास्क -1000 पीस, पीपीई किट 300 पीस, ग्लब्स 1000 पीस ,सैनिटाइजर (500 एमएल) 20 बोतल, पल्स ऑक्सीमीटर -10 पीस उपलब्ध कराया गया ।
उपायुक्त श्री यादव ने कहा कि डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में जो भी कमियां रह गई है, उसे यथाशीघ्र पूर्ण किए जाएं। उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध बेड ,ऑक्सीमीटर ,ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता , पानी, बिजली एवं शौचालय के साफ सफाई के समुचित प्रबंध की जानकारी प्राप्त की ।
ज्ञात हो कि जिला प्रशासन एवं महागामा की विधायक दीपिका पांडेय सिंह के अथक प्रयास से ऊर्जानगर डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में कुल 25 ऑक्सीजन बेड जल्द से जल्द आरंभ किए जाएंगे, जिसकी सारी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उपायुक्त ने बताया कि इन विकट परिस्थितियों में डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के आरंभ होने से महागामा प्रखंड के समीपवर्ती एवं सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के कोरोना संक्रमित मरीजों को राहत मिल सकेगी। उन्हे जिला मुख्यालय एवं अन्य राज्यों में अपने इलाज हेतु नहीं जाना पड़ेगा। सिविल सर्जन गोड्डा डॉ शिव प्रसाद मिश्रा ,अनुमंडल पदाधिकारी, महागामा जितेंद्र कुमार देव के द्वारा भी डेडीकेटेड कोविड अस्पताल को आरंभ कराने लिए अस्पताल में उपलब्ध आवश्यक सामग्रियों की जांच की गई।मौके पर ईसीएल के अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।