संदिग्ध हुआ बलात्कार का मामला

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: बालीडीह के पांडये टोला की रहने वाली व्याहता मधु कुमारी ने बालीडीह थाने में अपने देवर पवन कुमार तथा उसके मित्र रोहित कुमार पर बलात्कार का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है, लेकिन अपने आवेदन में देवर को भैसुर बताया तो पुलिस को मामला सन्दिग्ध लगा। तो पुलिस ने पति पत्नी को सामने बैठाकर समझौता कराने का प्रयास किया तो पत्नी मधु कुमारी अपने पति के साथ रहने से इंकार कर दिया। गत 21 मई से वो अपने मौसी के घर रह रही है। इधर पति श्रवण कुमार का कहना है वो 21 मई को अपनी पत्नी के साथ अपने कमरे में ही था बलात्कार जैसी कोई घटना नही हुई है। पति श्रवण ने बताया कि उसकी शादी 13 दिसम्बर 2020 को हुई थी। शादी के महज़ कुछ दिनों बाद से ही घर वालो को दहेज़ प्रताड़ना का ख़ौफ़ दिखाकर लगातार जेल भेजने की धमकी देकर अपनी मनमानी करती रहती थी। पत्नी अपने पति के सामने ही फोन पर अन्य लड़को से बात करती और पति द्वारा ऐसा करने से मना करने पर झगड़ा करते हुए घर मे रखे मंहगे सामानों को जमीन पर पटक कर तोड़ देती। यही नही घर छोड़ मौसी के यहाँ जाने के पहले घर मे रखे सारे जेबर भी अपने साथ लेती गई। पति श्रवण ने बताया कि शादी के पूर्व से उसके गांव के किसी युवक से उसका प्रेम सम्बन्ध रहा है वो उसी के साथ रहना चाहती है, पति ने कहा कि घर छोड़ने के एक सप्ताह बाद अपनी मौसी और उसके बेटे के बहकावे की बजह से एक साजिश के तहत उसपर झूठा मुकदमा दर्ज कराया गया है।
इधर पुलिस मामले की जांच में जुटी तो प्रथमद्रष्टया में मामला सन्दिग्ध ही लगा। बालीडीह थाना प्रभारी ने बताया कि इतने छोटे से घर मे भरापूरा परिवार के होते हुए बलात्कार की घटना हो जाना अपनेआप में कई सवाल खड़ा कर रहा है, पुलिस के वरीय अधिकारी भी अपने स्तर से मामले की जांच में जुटे है जल्द ही रहस्य पर से पर्दा उठेगा। वही पति श्रवण कुमार पुलिस के आलाधिकारियों को आवेदन देकर उनसे न्याय का गुहार लगाया है।