समाहरणालय में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का मनाया गया जयंती

समाहरणालय समेत विभिन्न कार्यालयों में कार्यरत सफाई कर्मियों को अंग वस्त्र प्रदान कर किया गया सम्मानित

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला । समाहरणालय परिसर पर जिला उपायुक्त अरवा राजकमल, पुलिस अधीक्षक आनंद प्रकाश एवं उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई सहित अन्य पदाधिकारीगण राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 152वीं जयंती के अवसर पर उनकी तैलीय चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया।
मौक़े पर उपायुक्त ने जिलेवासियों से अपील करते हुए राष्ट्र पिता महात्मा गाँधी के विचारों और उनके आदर्शो को अपने जीवन में स्मरण करने की बात कही उन्होंने आगे कहा विशेष कर युवा वर्ग राष्ट्र पिता के आदर्शो को सामने रखते हुए आज के फस्ट जेनरेशन में भी अपने साथ साथ दुसरो के भलाई एवं अपने आस-पास, समाज, अपने राष्ट्र में शांति पूर्ण वातावरण बनाने में मदद करें।
पुलिस अधीक्षक आनंद प्रकाश ने भी जिले वासियों को राष्ट्रपिता के सिद्धांतों को अपने जीवन में समाहित कर अहिंसा के रास्ते पर चल राष्ट्रपिता के विचारों को पूर्ण करने की बात कही। उन्होंने कहा सरायकेला खरसावां जिले में कुछ जगहों पर हिंसा के रास्ते दिखाकर ग्रामीणों को हिंसा एवं नक्सलवाद का हिस्सा बनाने हेतु प्रेरित किया जाता है। उन्होंने अपील करते हुए कहा हिंसा के रास्ते को ना चुने, अहिंसा और शांतिपूर्ण वातावरण से आपके परिवार, आस पास, समाज और राज्य का विकास होगा। उन्होंने अहिंसा के रास्ते पर चल अपने समाज के विकास हेतु प्रशासन से हर संभव मदद देने पर बल दिया तथा अपने पीढ़ी को अच्छी शिक्षा एवं रोजगार से जोड़ने कि बात कही।
भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री जी के जयंती के अवसर पर उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक समेत जिले के वरीय पदाधिकारियों के द्वारा उनके तैलीय चित्र पर माल्यार्पण कर नमन किया गया।इस अवसर पर उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक एवं उप विकास आयुक्त के द्वारा संयुक्त रूप से समाहरणालय समेत जिले के कई विभागों में कार्यरत सफाई कर्मियों को अंग वस्त्र (साड़ी, पेंट शर्ट) प्रदान कर सम्मानित किया गया। मौके पर जिला कोषागार पदाधिकारी प्रमोद कुमार झा, LRDC सरोज तिर्की, एनडीसी गणेश महतो, जिला सूचना एवं जनसम्पर्क पदाधिकारी सुनील कुमार सिंह , जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शिप्रा सिन्हा, एसएमपीओ नंदन उपाध्याय तथा अन्य पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।