पुल धंसा नहीं, इंजीनियर के कहने पर धांसा जा रहा था पुल, लप चुका था सेटरिंग

धंस जाने के क्रम में दो मजदूर घायल

भुपेन्द्र पांडेय

गिद्धौर (चतरा): प्रखंड मजगावां पंचायत के तरीघटेरी गांव से इटखोरी प्रखंड के अनेकों गांव को जोड़ने वाला कुबरी में बन रहे पुल लगभग 67 लाख रुपया की लागत से बन रहे।पुल ढालने के क्रम में लप गया।जिसे देख पुल खराब हो जाती इससे पहले इंजीनियर संजय दास मौके पर मौजूद थे। जोकि तुरंत काम को रुकवा दिए।और पुण: फिर से अच्छी तरीके से सेटिंग लगाने का निर्देश देकर पुल ढलाई करने की बात कही थी।तब तक लगभग 40 से 50 बोरी सीमेंट का ढलाई हो चुका था। खराब पुल को फिर से तोड़कर बनाने के लिए मजदूर बसंत उराव और बंधन दांगी काम कर रहे थे।इसी बीच पूल धस गई।और बंधन गांधी का दाहिने हाथ में काफी चोटें आई और दो तिन छाति का हड्डी टूट गया। तो वही बसंत उरांव को हल्की-फुल्की चोटें आई जिसे बेहतर इलाज के लिए पीतीज हॉस्पिटल ले जाकर बेहतर इलाज करवाया गया।दोनों मजदूर से जब पूछा गया तो बतलाए।की कुबरी में बन रहे पुल में काम कर रहे थे।इसी बीच पुल धस गया। और हम लोग को चोटे आई हैं। तत्काल इन लोगों का इलाज ठेकेदार के द्वारा करवाया जा रहा है।कुबरी में बन रहे पुल गिद्धौर प्रखंड एवं इटखोरी प्रखंड के दर्जनों गांव की आने-जाने की सुविधा फिर से विलंब हो गई है लोगों की जिज्ञासा थी।कि इस वर्ष की बरसात में पुल से आवागमन होगी।और ग्रामीणों की सुविधा मिलेगी।जो कि अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। और पहले की भांति ही नदी पार करके आवागमन करने पर गांव के ग्रामीण विवश हैं।एवं अधिकारियों से जल्द से जल्द पुल का कार्य पूर्ण करने की मांग भी किए हैं।