काम से हटाए जाने का मज़दूरों ने किया विरोध

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारोः बोकारो इस्पात भवन के पास स्तिथ केंद्रीय औधौगिक सुरक्षा बल के पास सेक्सन के हाथों में झंडा लिये कतारबद्ध खड़े ये मज़दूर अपने नियोजन की माँग कर रहे है। दरअसल ये सभी ठेका मज़दूर 20 से 25 वर्षो से विभिन्न ठेका कम्पनियो में काम कर रहे थे लेकिन पिछले दो महीनों से इन ठेका मज़दूरों को काम से हटाते हुए इनके गेट पास रदद् कर दिए गए। बोकारो इस्पात कामगार यूनियन के बैनर तले यहाँ इक्कठा हुए इन मज़दूरों का आरोप है कि ये सब इस्पात प्रबन्धन एवं ठेका कम्पनी की मिली भगत के तहत किया जा रहा है। मज़दूर उनके स्थान पर रखे गए नए मज़दूरों को रखने की बात पर कहते है कि यह सरासर गलत है जब आपके पास एक्सपीरियंस कामगार है तो फिर उसे हटा कर नए मज़दूरों को काम पे लगाना कहा तक जायज है। यहाँ बोलते हुए आई टी यू सी के आई डी प्रसाद ने कहा कि इन मज़दूरों को एक साज़िस के तहत हटाया जा रहा है हम इसका पुरजोर विरोध करते है, प्रबन्धन इन मज़दूरों को वापस काम पर रखे वरना हम आंदोलन की धार को और तेज़ करेगे। वही बीरेंद्र तिवारी ने कि कमीशन के हो रहे खेल के कारण इन मज़दूरों को निशाना बनाया गया है।