झारखंड में पिछड़ों को राष्ट्रीय मानक के आधार पर आरक्षण मिलना संवैधानिक अधिकार से जुड़ा है: सुनीता चौधरी

नगर परिषद क्षेत्र के हुहुवा से शुरू हुआ सामाजिक न्याय मार्च

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट
रामगढ़: शहीद निर्मल महतो के शहादत दिवस के पावन अवसर पर आजसू पार्टी कि ओर से नगर परिषद क्षेत्र के हुहुवा से समाजिक न्याय मार्च का शुभारंभ किया गया।
नगर परिषद अध्यक्ष युगेश बेदिया,उपाध्यक्ष मनोज़ कुमार महतो के संयुक्त नेतृत्व में आजसू पार्टी में कार्यकर्ता हुहुवा से गोबरदरहा तक पद यात्रा कर वर्तमान सरकार के ओबीसी मोर्चा के 27 प्रतिशत आरक्षण वादाखलाफी को लेकर ग्रामीणों से स्मरण पत्र में हस्ताक्षर करवाकर मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा।
कार्यक्रम के बतौर मुख्य अतिथि समाजसेवी सुनीता चौधरी ने बताया कि झारखंड में पिछड़ों को राष्ट्रीय मानक के आधार पर आरक्षण मिलना संवैधानिक अधिकार से जुड़ा है. आरक्षण सिर्फ आर्थिक नहीं, प्रतिनिधित्व और भागीदारी का भी सवाल है.। इस वर्ग का सरकारी व अर्ध सरकारी सेवा और पदों में प्रतिनिधित्व भी बहुत कम है.। आजसू ने आरक्षण को लेकर पहले भी कई मंचों पर आवाज मुखर करने के साथ-साथ तर्क और तथ्य के साथ बहस को आगे बढ़ाया है. ।वर्तमान सरकार ने चुनाव पूर्व यह वादा किया था कि सत्ता में आते ही प्रथम कैबिनेट में पिछड़ों का 27 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करेंगे।
न्याय मार्च में मुख्य रूप से केंद्रीय सचिव निरंजन मुंडा,आजसू पार्टी के नगर परिषद अध्यक्ष विनोद कुशवाहा,सचिव राजेन्द्र महतो,कार्यकारी अध्यक्ष हरेश राय,वार्ड पार्षद देवधारी महतो,रौशन कुमार, चितु महतो,शोमू खान,सुशील सिंह,छोटू पटेल,डिया महतो,महेंद्र चौधरी,राजेश महतो,कैलाश महतो,नरेश महतो,पुरुषोत्तम कुमार,लाल बाबू मुंडा,शोले अंसारी,राजेश राम,कल्लू राम,किशुन भगत आदि पार्टी के कार्यकर्ता उपस्थित थे।