12 दिन से लापता नाबालिग बच्ची का सोमवार का औरंगा नदी में मिला मानव कंकाल

प्रेम प्रसंग के कारण बच्ची की हत्या कर शव छिपाने के नियत से बालू में गाड़ा शव

बालू धोने वाले ट्रैक्टर के मजदूर ने कंकाल देखकर स्थानीय लोगों को दी सूचना

सूचना के बाद पुलिस घटना स्थप पहुंचकर कंकाल को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा सदर अस्पताल

लातेहार से रुपेश कुमार गुप्ता की रिपोर्ट

लातेहार : मनिका थाना क्षेत्र के आंटीखेता अंतर्गत टांगरटुटवाटोला निवासी बलदेव भुइयां की 16 वर्षीय नाबालिग पुत्री सुशीला कुमारी का शव सोमवार को मनिका थाना पुलिस ने मनिका थाना क्षेत्र के छुआमदा करबला के पास के औरंगानदी बालू में गाड़ा हुआ कंकाल बरामद किया है। पुलिस ने घटना स्थल से सड़ा गला अवस्था में मानव कंकाल, बच्ची के सिर के बाल में लगा हुआ नीला रंग का किलिप, लाल रंग का फटा हुआ सलवार सूट,एक काला रंग का लेगिंस, एक हरा रंग का समीज बरामद किया है। जिससे परिजनों ने दावा किया है कि यह कंकाल मेरी बच्ची सुशीला कुमारी का ही है। पुलिस ने कंकाल को लेकर मृतक के स्वजन मानदेव भुइयां व करीमन भुइयां ने बताया कि मेरी बच्ची 12 दिन से घर से लापता होने पर इसकी सूचना मनिका पुलिस को दी गई थी। परंतु 12 दिन बीत जाने के बाद मनिका पुलिस के द्वारा मेरी बच्ची का कंकाल बरामद किया है। उन्होंने कहा कि गांव के एक लड़की के साथ मेरी बच्ची घर से निकली थी, मेरी बच्ची घर वापस नहीं आई और जिस लड़की के साथ निकली थी वे अपने घर में है। उन्होंने बताया मेरी बच्ची को बहला फुसलाकर गांव जे एक लड़का ने प्रेम जाल में फंसा रखा था। मेरी बच्ची के साथ शादी करने का दबाव भी दे रहा था। मुझे पूर्ण आशंका है कि इन्ही के द्वारा मेरी बच्ची की हत्या कर बालू में शव को छिपाने के नियत से गाड़ दिया गया है। उन्होंने पुलिस से इंसाफ को लेकर गुहार लगाई है। मृतक के स्वजनों ने बताया कि बच्ची के पिता चेन्नई में मजदूरी करने के लिए गए हुए है। टेलीफोनिक के माध्यम से मृतक के पिता को सूचना दे दी गई है।