प्रेम प्रसंग मामले में बगोदर युवती ने दहेज मुक्त झारखंड से मांगी मदद

गिरिडीह : बगोदर क्षेत्र के कान्दुटोला निवासी मदन साव की पुत्री संजू कुमारी की प्रेम प्रसंग बिरनी थाना क्षेत्र के ग्राम बाराडीह के रहने वाला टुपलाल शर्मा के पुत्र उमेश शर्मा से हो गया। युवक ने युवती को शादी का झांसा देकर दोनों पिछले एक वर्ष से साथ साथ रहने लगे। इसी बीच युवक ने युवती से गुपचुप तरीके से सरिया बराकर नदी के पास एक मंदिर बियाह भी कर लिया और पत्नी का वास्ता देकर युवक ने युवती को एक होटल ले गया और शारीरिक सबंध बनाया जिसके बाद युवक ने उसके परिजनों को भी शादी का भरोसा देकर युवती के घर भी आना जाना करने लगा और कई बार उनके साथ शारीरिक सबंध बना लिया और परिजनों से काफी ज्यादा रकम का भी ठगी कर गया। जब युवती ने शादी का दबाव बनाने लगे तो युवक ने गिरिडीह कोर्ट के एक वकील से उनका मैरिड़ पत्र बनवा दिया और लड़की समेत पूरा परिवार को विवाह करने भरोसा दे गया।
युवक ने इतना ही कुछ नहीं किया अब उसने उस युवती को दिल्ली ले आया जंहा उसने काम करता था. अब दिल्ली में उसने युवती को छह महीने तक रखा. इसी कर्म में युवती गर्भवती धारन कर गई, तब इसके बाद युवक कहने लगा कि घर में बहन और हम दोनों की शादी एक साथ होगी अभी तुम गर्भपात कर लो नहीं तो विवाह के समय सामाज के सामने हम दोनों बहुत ही नीचा और शर्मिंदगी होना पड़ेगा। ये मुझे समझाया और मुझे उसने गर्भपात करा दिया। गर्भपात होने कुछ समय के बाद मुझे दिल्ली से घर वापस ले आया जिसके बाद से युवक अब शादी करने से इंकार कर रहा है।
युवती अब न्याय की गुहार लगा रही है उसने बगोदर महिला थाना मे शिकायत दर्ज करायी है लेकिन युवक के उपर कोई करवाई नहीं जा रहा है युवती ने इस धीमी कर्रवाई पर असंतोष जताते हूए दहेज मुक्त झारखंड संस्था को आवेदन पत्र देकर मदद की गुहार लगायी है। वही दहेज मुक्त झारखंड के संस्थापक डॉ आनंद कुमार शाही ने युवती को हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है।