बरही चौक का नाम बाबा भीमराव अंबेडकर हो : कमल सिंह वालिया

भीम आर्मी के सदस्यों ने आदिवासी नृत्य संगीत के साथ राष्टीय प्रमुख महासचिव का किया स्वागत

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही: शनिवार को भीम आर्मी के सदस्यों ने बरही चौक पर राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव कमल सिंह वालिया का भव्य स्वागत पारंपरिक तरीके से किया। स्वागत कार्यक्रम के दौरान झारखण्ड की लोक संस्कृति आदिवासी नृत्य देखने को बन रहीं थी। भव्य स्वागत के बाद बरही बाराटांड में स्थापित बाबा साहब की प्रतिमा पर अतिथियों के द्वारा माल्यार्पण किया गया। वहीं बरही चौक के गोलम्बर पर एक नुक्कड़ सभा का भी आयोजन किया गया। मौके पर मुख्य अतिथि कमल सिंह वालिया ने कहा कि बरही चौक झारखंड ही नहीं पूरे भारत के लिए महत्वपूर्ण चौराहा है, इसलिए इस चौक का नामकरण संविधान निर्माता विश्वरत्न डॉ भीमराव अंबेडकर के नाम से होना चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि इस चौक पर बाबा साहेब का बड़ा प्रतिमा स्थापित किया जाए, इसके लिए मैं प्रशासन से मांग करता हूं। वहीं कहा कि झारखंड के युवाओं में काफी ऊर्जा है, युवाओं की बात को सरकार गंभीरता से लें। वहीं उन्होंने कहा कि जो भी संविधान के साथ छेड़छाड़ करेगा तो हम लोग चुप नहीं बैठेंगे और आने वाले समय में बहुजन ताकत को दिखाने का काम करेगा। कार्यक्रम में मुख्यरूप से भीम आर्मी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव कमल सिंह वालिया, राष्ट्रीय संगठन सचिव नान्हू राम, झारखण्ड प्रदेश अध्यक्ष गिरजानंदन उरांव, प्रदेश महिला प्रभारी प्रभावती देवी, प्रदेश महासचिव भागवत राम, प्रदेश उपाध्यक्ष उज्जवल कुमार उर्फ रावण, हज़ारीबाग़ जिला अध्यक्ष संजय रविराज, जिला सचिव राहुल अम्बेडकर, जिला महासचिव कृष्णा कुमार, मीडिया प्रभारी बिरजू कुमार, धनबाद जिला अध्यक्ष लोकेश गौतम, गुमला अध्यक्ष यदुनंदन नायक, बरही भीम आर्मी अध्यक्ष सूरज दास, सचिव रिज़वान अली, महासचिव अमित पासवान उर्फ गोल्डी, मीडिया प्रभारी मेराज अंसारी, उपाध्यक्ष मनोज रविदास, शंकर दास, उपसचिव गुलाब कु दास, कोषाध्यक्ष लक्ष्मण राव अम्बेडकर, महासचिव दिनेश कु दास, पंचायत अध्यक्ष अनुज रविदास, बरही पश्चिमी जीप सदस्य सन्तोष रविदास, चौपारण प्रखण्ड से अध्यक्ष राजेश कु दास, सचिव रोहित दास, मीडिया प्रभारी चन्दन कुमार, बरकट्ठा प्रखण्ड से अध्यक्ष मनोज रविदास, प्रखण्ड सचिव प्रमोद कु दास, विजय कु दास, पदमा प्रखण्ड से राजकुमार दास, उमेश दास, बरही से शमशेर अंसारी, नूर आलम, लक्ष्मण दास, कारू दास, करियातपुर से शिक्षक जितेंद्र दास, सीताराम दास, सुनील दास, पिंटू दास, निशार अंसारी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित हुए।