स्टेन स्वामी व कोड़ि से हुए मौतों के लिए केन्द्र सरकार जिम्मेवार: भाकपा माले

रांची: अपनों की याद कार्यक्रम में इस रविवार जंगल जमीन आंदोलन की मुखर आवाज़ फादर स्टेन स्वामी और युवा पत्रकार दानिश सिद्दिकी के नाम समर्पित किया गया। फादर स्टेन स्वामी और युवा पत्रकार दानिश को चाहने वाले , समाजिक कार्यकर्ता और माले नेताओं ने आज भाकपा माले राज्य कार्यालय में सभी प्रियजनों की याद में कैंडल जलाकर दो मिनट का मौन श्रद्धांजलि अर्पित किया गया। कोविड वैश्विक महामारी में मौत के शिकार हुए अपनों की याद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने फादर की मौत समेत अन्य सभी कोविड मरीजों की मौत के लिए केंद्र सरकार की बदहाल लचर स्वास्थ्य व्यवस्था को जिम्मेदार बताया। स्वास्थ्य सुविधाओ का निजीकरण और सरकारी अव्यवस्था इसका मुख्य ज़िम्मेदार है। कोविड से मरे सभी मरीजो के परिजनों को पांच पांच लाख रुपए मुआवजा राशि भूगतान करने की मांग की गई। सभी वक्ताओं ने फादर की मौत के लिए केंद्र की सरकार को जिम्मेदार बताया गया। स्वामी की 84 वर्ष की उम्र में गिरफ्तारी और जीवनरक्षक सुविधाओं के आभाव में मौत की न्यायिक जांच कर दोषियों को सजा देने की मांग की गई।