जनता की सेवा के लिए चक्रधरपुर विधायक ने एएसपी को सौंपा चार एंबुलेंस

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: चक्रधरपुर के विधायक सुखराम उरांव ने जनता से किए वायदा को पूरा करते हुए शनिवार 5 जून को चक्रधरपुर के बनमालीपुर स्थित विधायक आवास परिसर में एएसपी नाथू सिंह मीना को चार एंबुलेंस की चाबी सौंप दिया.
विधायक निधि से खरीदे गए चारों एंबुलेंस चक्रधरपुर, कराईकेला, बंदगांव व टोकलो थाना परिसर में रहेगी और जनता की सेवा के लिए दौड़ेगी. विधायक श्री उरांव ने पहले भी चार एंबुलेंस अपने विधायक निधि से जनता को सौंप चुके हैं. जो कोरोना काल में जनता की सेवा में लगी हुई है. यह एंबुलेंस आधुनिक सुविधाओं से लैस है.
बताया बताया गया कि विधायक निधि से चार एम्बुलेंस देने के बाद भी एम्बुलेंस की कमी महसूस की जा रही थी. प्रत्येक एंबुलेंस में तीन चाबी रहेगी. जिसमें एक थाना प्रभारी, एक ड्राइवर एवं एक संचालन समिति के सदस्य के पास रहेगी. एंबुलेंस से सबसे अधिक ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को लाभ मिलेगा.मौके पर सन्नी उरांव, उदय जायसवाल, दिनेश जेना, सदानंद होता, सरवर नेहाल, संजीत विश्वकर्मा समेत काफी संख्या में लोग मौजूद थे.

आठ एंबुलेंस इस साल दे चुका हूं : सुखराम

विधायक सुखराम उरांव ने कहा कि अब तक कुल आठ एंबुलेंस चक्रधरपुर विधानसभा क्षेत्र को दे चुका हूं. एंबुलेंस संचालन समिति में पुलिस और समाज के प्रमुख लोगों को इसलिए रखा गया है कि थाना और आम जनता में सामंजस्य बनी रहे. थाना को किसी भी हादसा की सबसे पहले सूचना मिलती है, कोरोना काल में भी पुलिस की सक्रियता किसी से भी छुपी हुई नहीं है. ऐसे में एंबुलेंस थानों को सौंपा जाना क्षेत्र की जनता के हित में है. इससे जनता को आसानी से लाभ और सुविधाएं मिल सकेंगी. हमारे विधानसभा क्षेत्र में पांच थाना है. जिनमें से 4 को एंबुलेंस उपलब्ध कराया गया है. केवल टेबो थाना को एंबुलेंस नहीं दिया गया है, इसलिए के बंदगांव और कराइकेला थाना के बीच टेबो थाना अवस्थित है. दोनों एंबुलेंस से टेबो थाना को भी मदद मिलती रहेगी. उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा 8 और पूर्व से संचालित 5 एंबुलेंस समेत चक्रधरपुर विधानसभा में कुल 13 एंबुलेंस हो गए हैं. अब एंबुलेंस की संख्या क्षेत्र की जनता को स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाने में बहुत कारगर साबित होगी. कोविड-19 का जो तीसरी लहर की बात की जा रही है, यह उस लहर से लड़ने के लिए उठाया गया एक कदम है. राज्य सरकार भी अपने स्तर से तीसरी लहर के बचाव में लगी है और जनप्रतिनिधियों के माध्यम से भी राज्य सरकार चाहती है कि तीसरी लहर से हम लड़ें और राज्य को विकट स्थिति में आने से रोकें. उन्होंने कहा कि चक्रधरपुर अनुमंडल अस्पताल को और अधिक विकसित किया जाएगा. लैब और कोविड-19 जांच की मशीनें उपलब्ध कराई जा चुकी है. समय के साथ-साथ इसे और आधुनिक सुविधाएं प्रदान की जाएंगी. कोरोना काल में अनुमंडल अस्पताल ही सबसे ज्यादा सहायक साबित हुआ है. इसलिए यह जरूरी हो गया है कि अनुमंडल अस्पताल की दशा और अधिक सुधारी जाए. सीटी स्कैन से लेकर अन्य सभी आधुनिक मशीनें इस अस्पताल में उपलब्ध कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि स्कूलों और पंचायत भवनों को सरकार ने खोल रखा है. जहां शिक्षकों की सेवा ली जा रही है. तीसरी लहर से बचाव के लिए हर एक व्यक्ति को जागरूक की जा रही है. हमें वैक्सीन लेने के लिए लोगों को जागरूक करना बहुत ही जरूरी है.

विधायक की पहल अति सराहनीय : एएसपी

चक्रधरपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नाथू सिंह मीना ने कहा है कि विधायक सुखराम उरांव द्वारा थानों में एंबुलेंस देने की पहल अति सराहनीय कार्य है. सर्वविदित है कि कहीं कोई दुर्घटना घटती है, सड़क हादसा होता है या आगजनी के मामले होते हैं तो ऐसी विकट स्थिति में सबसे पहले थानों को सूचनाएं दी जाती है. थाने में एंबुलेंस होने से अब अधिक से अधिक सहायता परेशानहाल लोगों को पहुंचाई जा सकेगी..एएसपी श्री मीना के मुताबिक बंदगांव, टोकलो और कराइकेला क्षेत्र पूरी तरह जंगलों के बीच बसे इलाके में है. जंगली इलाके में रहने वाले लोगों के इलाज के लिए यह एंबुलेंस सबसे ज्यादा कारगर साबित होगा. थाना प्रभारी के नेतृत्व में एंबुलेंस संचालन समिति बनाई गई है. जिसके माध्यम से सेवा भावना से एंबुलेंस को संचालित किया जाएगा.

विधायक का कदम आदित्य : थाना प्रभारी

चक्रधरपुर के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार ने कहा कि विधायक सुखराम उरांव द्वारा थानों को एंबुलेंस उपलब्ध कराना आदित्य कदम है. इससे बहुत से लोगों की जान बचाई जा सकेगी. अब दुर्घटना स्थल पर पुलिस जीप के साथ-साथ एंबुलेंस भी जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *