डीसी ने की विभिन्न विभागों के चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा

गुमला: उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में कृषि, आत्मा, सहकारिता, मत्स्य पशुपालन, भूमि संरक्षण एवं उद्यान विभाग से संबंधित कार्यों की समीक्षा हेतु बैठक आईटीडीए भवन स्थित उपायुक्त कार्यालय वेश्म में किया गया।

बैठक में जिला सहकारिता पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि अबतक सभी लैम्पसों द्वारा अधिप्राप्त किए गए धान की कुल मात्रा 82233 क्विंटल है। जबकि उठाव किए गए धान की कुल मात्रा 19113 है। इसपर उपायुक्त ने संबंधित राइस मिलरों द्वारा बेहद कम मात्रा में धान का उठाव किए जाने पर असंतोष व्यक्त किया। इस संबंध में उन्होंने संबंधित राइस मिलरों के स्थान पर अन्य राइस मिलर को टैग कर ससमय धान का उठाव सुनिश्चित करने का निर्देश जिला सहकारिता पदाधिकारी को दिया।

बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनांतर्गत जिले में ड्रिप इरिगेशन के माध्यम से एकीकृत खेती के बढ़ावा देने की दिसा में वित्तीय वर्ष 2020-21 हेतु विभिन्न कंपनियों को कार्यादेश दिए जाने की जानकारी दी गई। इस संबंध में उन्होंने बताया कि अभी तक कुल 08 कंपनियों को ड्रिप इरिगेशन के माध्यम से एकीकृत खेती हेतु कार्यादेश दे दिया गया है। जिसमें मेसर्स निंबस पाईप्स लिमिटेड, मेसर्स श्री भंडारी प्लास्टिक प्राइवेट लिमिटेड, मेसर्स समय इरिगेशन प्राइवेट लिमिटेड, मेसर्स एस.आर.एम प्लासटोकेम प्राइवेट लिमिटेड, मैसर्स पाईनियर प्लास्टिक इंडस्ट्रीज लिमिटेड, मेसर्स कैप्टेन पॉलिप्लास्ट लिमिटेड, मेसर्स भारत ड्रिप इरिगेशन एण्ड एग्रो तथा मेसर्स दिनेश इरिगेशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां शामिल हैं।

बैठक में भूमि संरक्षण पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में छोटे एवं सीमान्त कृषकों/ स्वयं सहायता समूहों के लाभुकों को 90 प्रतिशत पर पंपसेट एवं एच.डी.पी.ई पाईप वितरण किए जाने की योजना है। जिसके तहत दिले में अबतक 76 लाभुकों द्वारा स्वयं के पूर्ण व्यय पर पंपसेट एवं एच.डी.पी.ई पाईप का क्रय किया गया है। इसके अलावा उन्होंने कृषि यांत्रिकीकरण की प्रोत्साहन हेतु, महिला मंडल समूह/ सखी मंडल/ कृषक समूहों को मिनी ट्रैक्टर, पावर टीलर के साथ सहायक कृषि यंत्रों के वितरण की योजना की जानकारी दी। इस योजना के तहत जिले के कुल 28 स्वयं सहायता समूहों के सूची का अनुमोदन प्राप्त है तथा स्वयं के पूर्ण व्यय पर यंत्र का क्रय एस.एच.जी के द्वारा किया जाएगा।

बैठक में जिला पशुपालन पदाधिकारी द्वारा संचालित योजनाओं की भौतिक उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी गई। इसके अलावा उन्होंने जिले में एक एम.टी क्षमता वाले कोल्ड रूम तथा हिमाटोलॉजी ब्लड ऐनेलाईजर की जानकारी दी

बैठक में उपायुक्त ने सभी विभागों को आगामी 30 मार्च तक सभी संचालित एवं कार्यान्वित योजनाओं में कार्यों को पूर्ण कर शत-प्रतिशत प्रगति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला कृषि पदाधिकारी सत्यनारायण महतो, जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ. मीनू शरण, जिला सहकारिता पदाधिकारी कुमोद कुमार, जिला मत्स्य पदाधिकारी दीपक कुमार सिंह, भूमि संरक्षण पदाधिकारी शिवपूजन राम व अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *