डीसी ने शहरी क्षेत्र में डोर टू डोर जाकर वैक्सीनेशन के लिए लोगों को किया जागरूक

– शत प्रतिशत कोरोना वैक्सीनेशन के लिए प्रशासनिक सक्रियता तेज

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: जिले में कोरोना वैक्सीनेशन की शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करने के लिए उपायुक्त भोर सिंह यादव की अगुवाई में प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य महकमा रेस हो गया है। वैक्सीन के प्रति समाज के एक वर्ग में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जागरूकता अभियान में विभिन्न खेल एवं सामाजिक संगठनों की भी मदद ली जा रही है। अभियान को लेकर वरीय पदाधिकारियों को विभिन्न प्रखंडों का नोडल पदाधिकारी बनाया गया है। स्वयं उपायुक्त भी सड़क पर उतर कर डोर टू डोर लोगों से संपर्क करते हुए वैक्सीन लगवाने के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे हैं।
इस कड़ी में शुक्रवार को उपायुक्त श्री यादव फिर से सड़क पर उतरे। सिविल सर्जन एवं नगर परिषद के अधिकारी के साथ शहरी क्षेत्र में दो वार्डों का भ्रमण कर उपायुक्त ने लोगों को कोरोना का वैक्सीन लगवाने के प्रति प्रेरित किया।
जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बचाव एवं उनके रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। राज्य सरकार के निर्देश के आलोक में शुक्रवार को शहरी क्षेत्र के वार्ड नंबर 16 एवं 17 मस्जिद गली में कोविड वैक्सीनेशन से संबंधित जागरूकता अभियान चलाया गया । शहरी क्षेत्रों के विभिन्न वार्डो में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम की दिशा में डोर टू डोर जाकर लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है।जिला प्रशासन के द्वारा घर घर पहुंचकर लोगों कोरोना के महत्वपूर्ण नियमों की जानकारी देते हुए जागरूक करने का कार्य एवं कोरोना संक्रमण के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान की जा रही है।
उपायुक्त श्री यादव ने वार्ड नंबर 16 एवं 17 में जाकर लोगों से कोरोना की वैक्सीन लगाने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना की रफ्तार को वैक्सीन के माध्यम से ही कम किया जा सकता है। कोरोना के खिलाफ हम सभी को मिलकर लड़ाई लड़नी है। उन्होंने लोगों से टीकाकरण को लेकर फैलने वाली अफवाहों पर विश्वास नहीं करने तथा निर्भीक होकर टीकाकरण कराने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगाएं। और दूसरों को भी वैक्सीन लेने के लिए जागरूक करें। संक्रमण से बचने के लिए वैक्सीनेशन ही एकमात्र विकल्प है, जिसे युवा वर्ग से लेकर वरिष्ठ नागरिकों को अपनाना आवश्यक है। प्रत्येक नागरिक को अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए वैक्सीन जरूर लगाने चाहिए। सभी को समझना होगा कि वैक्सीन ही कोरोना से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है। कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज भी अनिवार्य रूप से लेना चाहिए।
उन्होंने जिले के सभी 18+ एवं 45+ वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों को अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण हेतु अपना पंजीकरण सुनिश्चित कराने की अपील की। उन्होंने टीकाकरण के प्रति फैलने वाली भ्रातिंयों को निराधार बताते हुए कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित तथा कारगर है। टीके से शरीर पर किसी भी प्रकार का कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय है टीका लगवाना है।

उपायुक्त ने कहा कि शहरी क्षेत्र के वैसै सभी बीपीएल परिवार, जो 18+ एवं 45+ है, जिन्होंने कोरोना का टीकाकरण करा लिया है एवं दोनों डोज ले चुके हैं, वैसे योग्य परिवारों को जिला प्रशासन के द्वारा लोहे की कढ़ाई दिया जाएगा। कहा कि एनीमिया मुक्त भारत के तहत लोगों के शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने के लिए लोहे का कढ़ाई में बना खाना काफी कारगर होता है। लोहे की कढ़ाई उन्हें एनीमिया रोग( खून की कमी की बीमारी) से भी लड़ने में मदद करेगा।
मौके पर कोविड-19 टीकाकरण के लिए 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को पंजीकरण करवाने की विधि से भी अवगत कराया गया।
मालूम हो कि वैक्सीनेशन प्रक्रिया में तेजी लाने हेतु कुल 5 टीमों के द्वारा शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में जाकर वैक्सीनेशन के लिए जागरुक किया गया। मौके पर कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद राजीव मिश्रा, रेड क्रॉस के सचिव सुरजीत झा समेत ऋषितोष झा , नीतीश आनंद, दयाशंकर एवं पंकज यादव, खेल संघ के देवाशीष झा ,मोनालिसा कुमारी, सौरभ कुमार भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *