विभागीय लापरवाही नवादा में एक वर्ष से विद्युत आपूर्ति बाधित

पर्याप्त मात्रा में ग्रामीणों को नही मिलता केरोसीन, संबंधित विभाग एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों से कई बाद कर चुके हैं फरियाद
कुंदा(चतरा)। जिले के अति उग्रवाद प्रभावित कुंदा प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत नवादा गांव में विभागीय उदासीनता एवं जनप्रतिनिधियों के लापरवाही के कारण लगभग एक वर्ष से विद्युत आपूर्ति बाधित है। विद्युत आपूर्ति बाधित होने के कारण ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। जिसके कारण सरकार एवं विभाग के प्रति ग्रामीणों में आक्रोष व्याप्त है। ग्रामीण आशीष गुप्ता ने बताया कि पिछले एक वर्षों से विद्युत आपूर्ति बाधित है ही, पीडीएस द्वारा प्रयाप्त मात्रा में केरोसीन ना देकर मात्र एक लीटर दिया जाता है, जिससे रात में पुरे माह जलाने के काम नही आता है और रात में बच्चे पढ़ाई भी नही कर पाते हैं। समाजसेवी सह भावी मुखिया प्रत्याशी महेश गंझु, मनोज यादव, आशीष गुप्ता, अरुण सिंह भोक्ता, वार्ड सदस्य पति अरविंद भोक्ता, शुभी गंझु, गुलामी गंझु, रंजीत गंझु, सुबोध महतो, शिवकुमार गंझु, अंकेश गंझु, महेंद्र गंझु, रोहित महतो, जितेंद्र गंझु, प्रमोद गंझु, जयपाल गंझु, मुंशी महतो वीरेंद्र गंझु, समेत कई ग्रामीणों ने बताया कि लगभग तीन सौ की आबादी गांव की है, उसके बावजूद सिर्फ एक ट्रांसफार्मर लगाया गया था, जो लगभग एक वर्ष से खराब है और गांव में विद्युत आपूर्ति बाधित है। इसकी सूचना कई बार लिखित व मौखिक रूप से संबंधित विभाग एवं जनप्रतिनिधियों को दी गई पर किसी ने गांव में विद्युत बहाली के लिए पहल नही की।  ग्रामीणों ने आगे कहा की जल्द समस्या के समाधान नही की गई तो जिला मुख्यालय में बाध्य होक आंदोलन करेंगे।