उप विकास आयुक्त ने हरी झंडी दिखाकर पोषण रैली को किया रवाना

पोषण माह अंतर्गत सदर प्रखंड में पोषण जागरूकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन

गुमला:  01 सितंबर से 30 सितंबर तक चलने वाले पोषण अभियान योजनांतर्गत पोषण माह के तहत गुमला सदर प्रखंड में पोषण जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पोषण जागरूकता कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ ने विकास भवन परिसर से हरी झंडी दिखाकर पोषण रैली को रवाना किया।

इस अवसर पर आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिकाओं द्वारा निकाली गई पोषण रैली को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त ने पोषण जागरूकता कार्यक्रम में जन भागीदारी बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कुपोषण को दूर करने के लिए सभी का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने पोषण माह में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में बच्चों, किशोरियों, गर्भवती एवं धात्री महिलाओं की भागीदारी को अत्यंत महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि जिले में सैम एवं मैम बच्चों के पोषण स्तर में सुधार लाना, गर्भवती एवं धात्री महिलाओं में एनीमिया की रोकथाम तथा कम उम्र में किशोरियों के होने वाले विवाह को रोकना पोषण माह कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य हैं, ताकि उनका विकास किसी भी रूप में बाधित न हो। अतः इस अभियान को जन आन्दोलन का रूप देना जरुरी है। गुमला जिले को सुपोषित बनाने के लिए केवल महिलाओं एवं बच्चों को ही नहीं अपितु पुरुषों को भी जागरूक होने की आवश्यकता है।

इस अवसर पर जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सीता पुष्पा ने पोषण माह की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वर्ष 2018 से प्रत्येक वर्ष पूरे देश मे सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जाता है। जिसका मुख्य उद्देश्य बच्चों में अल्प पोषण, किशोरी बालिकाओं, गर्भवती महिलाओं, धात्री-माताओं तथा बच्चों में रक्त की कमी को दूर करना है। पोषण माह के सफल संचालन व क्रियान्वयन को लेकर जनभागीदारी एवं आपसी समन्वय की आवश्यकता है, ताकि अपने समाज एवं जिले से कुपोषण की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सके। उन्होंने बच्चों में पोषण के सही स्तर को बनाए रखने में महिलाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि एक सुपोषित महिला पोषण के महत्व को समझते हुए अपने शिशु के पोषण को सुनिश्चित करने का प्रयास करती है। इसके साथ ही उन्होंने अपने दिनचर्या में स्वच्छता की आदतों को अपनाने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि सुपोषित जिले के निर्माण में स्वच्छता की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है।

इसके पश्चात् कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों निशा कुमारी एवं सुनील कुमार द्वारा आंगनबाड़ी सविकाओं एवं सहायिकाओं के बीच पपीते के पौधों का वितरण किया गया। विदित हो कि आज रवाना किए गए पोषण रैली के माध्यम से आंगनबाड़ी सेविकाओं एवं सहायिकाओं ने पोषण एवं एनीमिया से बचाव का संदेश दिया।

उपस्थिति
इस अवसर पर उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सीता पुष्पा, कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक निशा कुमारी, सुनील कुमार, महिला पर्यवेक्षिकाएं, सेविका-सहायिका व अन्य उपस्थित थे।