मुख्यमंत्री पशुधन योजना के तहत उपायुक्त की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय समिति की बैठक

रामगढ़: कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जनजाति के लोगों को दिए जा रहे मुख्यमंत्री पशुधन योजना के लाभ के संबंध में शनिवार को उपायुक्त रामगढ़ माधवी मिश्रा की अध्यक्षता में उनके कार्यालय में जिला स्तरीय समिति की बैठक संपन्न हुई। उपायुक्त ने जिला कल्याण पदाधिकारी से अब तक मुख्यमंत्री पशुधन योजना के माध्यम से अनुसूचित जनजाति के लोगों को दिए गए लाभ की जानकारी ली। जिला कल्याण पदाधिकारी रामेश्वर चौधरी ने उपायुक्त को बताया कि पशुपालन विभाग द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जनजाति के लोगों को लाभ देने हेतु वृहद रूप से सभी प्रखंडों में प्रचार प्रसार किया गया। जिसके उपरांत रामगढ़ जिला अंतर्गत अलग अलग प्रखण्डों से बकरी पालन हेतु 108, मुर्गी पालन हेतु 23, सूकर पालन हेतु 41 तथा बत्तख पालन हेतु 41 आवेदन प्राप्त हुए हैं।

उपायुक्त ने प्राप्त आवेदनों के लाभुकों को लाभ देने हेतु आगे की प्रक्रिया के संबंध में चर्चा करते हुए जिला कल्याण पदाधिकारी को सभी लाभुकों के जाति सहित अन्य आवश्यक दस्तावेजों की गहन जांच करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने समिति के अन्य सदस्यों के साथ लाभुकों को लाभ देने के संबंध में विस्तार से चर्चा किया।
उपायुक्त ने डीपीएम जेएसएलपीएस गौरव कुमार को स्वयं सहायता समूह की दीदियों के माध्यम से योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने एवं निर्धारित लक्ष्य के विरुद्ध शत प्रतिशत लाभुकों को मुख्यमंत्री पशुधन योजना का लाभ देने का निर्देश दिया।
मुख्यमंत्री पशुधन योजना के तहत कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जनजाति के लोगों को 100 % अनुदान पर योजना का लाभ दिया जा रहा है।

बैठक मेंउप विकास आयुक्त नागेंद्र कुमार सिन्हा जिला कल्याण पदाधिकारी रामेश्वर चौधरी आदि उपस्थित थे।