योजनांतर्गत विभिन्न प्रक्षेत्रों के लिए निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रगति सुनिश्चित करें : उपायुक्त

उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के प्रगति की समीक्षा हेतु बैठक संपन्न

गुमला: उपायुक्त  शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के प्रगति की समीक्षा हेतु बैठक उपायुक्त के गोपनीय कार्यालय के सभाकक्ष में की गई।

बैठक में उपायुक्त ने मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के तहत प्रखंडवार निर्धारित लक्ष्य के आधार पर प्राप्त लक्ष्य की समीक्षा की। रायडीह एवं चैनपुर प्रखंडों को छोड़कर शेष प्रखंडों की प्रगति संतोषजनक पाई गई। उपायुक्त ने योजनांतर्गत विभिन्न प्रक्षेत्रों यथा बकरा विकास, गव्य पालन, ब्रॉयलर-लेयर-बैकयार्ड पोल्ट्री फार्मिंग, बत्तख पालन एवं शूकर पालन में निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रगति लाने का निर्देश दिया।

ज्ञातव्य है कि सिसई प्रखंडांतर्गत बकरा विकास योजना के तहत निर्धारित लक्ष्य 86, लेयर फार्मिंग में निर्धारित लक्ष्य 06, बैकयार्ड पोल्ट्री फार्मिंग में निर्धारित लक्ष्य 12, शूकर पालन में निर्धारित लक्ष्य 08 तथा बत्तख पालन में नर्धारित लक्ष्य 110 के विरूद्ध शत-प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति कर ली गई है। सदर प्रखंड में बकरा विकास योजना के तहत निर्धारित लक्ष्य 56 के विरूद्ध 50, शूकर पालन में निर्धारित लक्ष्य 12 के विरूद्ध 17 तथा लेयर फार्मिंग में 08 के विरूद्ध 04 की उपलब्धि दर्ज की गई है। बिशुनपुर प्रखंड में बकरा विकास योजना के तहत निर्धारित लक्ष्य 03 के विरूद्ध 03, शूकर पालन में निर्धारित लक्ष्य 05 के विरूद्ध 08 तथा ब्रॉयलर फार्मिंग में निर्धारित लक्ष्य 03 के विरूद्ध 08 की प्रपाति कर ली गई है। कामडारा प्रखंड में बकरा विकास योजना के तहत निर्धारित लक्ष्य 44 के विरूद्ध 10, बत्तख पालन में निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध 95 के विरूद्ध 91, ब्रॉयलर फार्मिंग में निर्धारित लक्ष्य 07 के विरूद्ध 07 तथा शूकर पालन में निर्धारित लक्ष्य 06 के विरूद्ध 06 की उपलब्धि दर्ज की गई है।

बैठक में उपायुक्त ने मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजनांतर्गत लाभुकों का पेयी आईडी बनाकर उनके खातों में योजना की राशि का भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश जिला पशुपालन पदाधिकारी को दिया। साथ ही योजनांतर्गत जिन प्रखंडों में बकरा विकास, गव्य पालन, ब्रॉयलर-लेयर-बैकयार्ड पोल्ट्री फार्मिंग, बत्तख पालन व शूकर पालन अंतर्गत लाभुकों का चयन नहीं हो पाया है। उनका चयन कर सूची आज ही उपायुक्त के कार्यालय में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने राज्य सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना को गंभीरता से लेने का निर्देश दिया। उन्होंने जिला पशुपालन पदाधिकारी को स्वच्छ एवं त्रुटिरहित प्रतिवेदन समर्पित करने का भी निर्देश दिया.
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा सहित जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ.मोहम्मद कलाम, पशु शल्य चिकित्सक गुमला, प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी/ भ्रमणशील पशु चिकित्सा पदाधिकारी व अन्य उपस्थित थे।