27 सितंबर को संपूर्ण भारत बंद रहेगा : किसान सभा 

रामगढ़: अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति रामगढ़ की ओर से ओहदार भवन पटेल चौक रामगढ़ में अखिल भारतीय किसान सभा के जिला अध्यक्ष डॉक्टर बी एन ओहदार की अध्यक्षता में किसान कन्वेंशन का आयोजन किया गया,। जिसमें मुख्य रुप से अखिल भारतीय किसान समन्वय समिति झारखंड के संयोजक महेंद्र पाठक , अखिल भारतीय किसान महासभा के प्रदेश अध्यक्ष हीरा गोप, किसान संग्राम समिति के प्रदेश सचिव राजेंद्र गोप मौजूदथे।
अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र की सरकार किसान विरोधी कानून लाकर कृषि क्षेत्र को पूंजीपतियों के हवाले करना चाहती है। केंद्र की मोदी सरकार के किसान विरोधी कानुन को देश के किसान जिनकी आबादी 70% है वह समझने लगी है। इसीलिए 10 महीने से दिल्ली के पांचो बॉर्डर पर लाखों किसान ठंडा गर्मी बरसात पुलिस की जायदती को सहन करते हुए बैठे हुए हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने 27 सितंबर को केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरोध में, किसान विरोधी तीनों काला कानून को वापस लेने, न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी के लिए कानून बनाने, बिजली बिल 2020 को वापस लेने के लिए संपूर्ण भारत बंद का ऐलान किया है। उनके आह्वान पर झारखंड के तमाम राजनीतिक दलो झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस ,राष्ट्रीय जनता दल, सीपीआई सीपीआईएम, सीपीआई माले, मार्क्सवादी समन्वय समिति सहित तमाम संयुक्त श्रमिक संगठनों के लोगों ने भी समर्थन किया है, यह ऐतिहासिक भारत बंद को सफल बनाने के लिए तमाम कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर केंद्र की मोदी सरकार को विरोध करेंगे, ।यह आंदोलन 2024 तक चलेगा ,जिसमें भाजपा हटाओ देश बचाओ के नारे के साथ आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा। अखिल भारतीय किसान महासभा के प्रदेश अध्यक्ष खेड़ा गोप ने कहा कि केंद्र सरकार के विरुद्ध जनता की गुस्सा चरम पर है। देश में लगातार महंगाई बढ़ रही है। डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ने से हर आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ गया। जिससे आम जनता को जीना मुश्किल हो गया है। किसान संग्राम समिति के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र गोप ने कहा कि रामगढ़ के चारों ओर सभी प्रखंडों में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक प्रचार प्रसार पर जोर दिया जाएगा। सभी राजनीतिक दलों के लोगों को जिसने समर्थन बंद का किया है। उस पर आभार व्यक्त किया और कहा कि पूरी ताकत के साथ आने वाले दिन में केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में पूरे देश में वातावरण बनेगा और 2024 में मोदी सरकार को सत्ता से जाना पड़ेगा। कन्वेंशन में भाकपा जिला सचिव विष्णु कुमार, किसान नेता मेवालाल प्रसाद ,दुखन महतो, शहीद अंसारी, गोपाल महतो, बबलू उराव ,लोदो मुंडा, राजकिशोर बेदिया, चितरंजन महतो, लेदू राम, तेजन महतो ,जानू महतो, रोशन लाल महतो ,निर्मल महतो, महंगू प्रजापति ,हरेंद्र महतो, कुलेश्वर प्रसाद मेहता, सुरेश बेदिया, रामशरण मुंडा, भुनेश्वर वेदिया सहित कई लोग मौजूद थे ।