दिव्यांगजनों की मदद के लिए सभी को आगे आना चाहिए: पहला कदम

रांचीः आज राष्ट्रीय न्यास व एसएनएसी (राज्य नोडल एजेंसी केंद्र) समन्वयक के मार्गदर्शन में एक स्थानीय स्तर की समिति की ऑनलाइन बैठक धनबाद क्षेत्र के लिए आयोजित की गई। इसकी अध्यक्षता प्रमोद कुमार द्वारा की गयी। इस ऑनलाइन मीटिंग में केरल के डी जैकब, दीपशिखा रांची से अलका निज़ामिन, धनबाद के जिला समाज कल्याण पदाधिकारी (डीएसडब्ल्यूओ) स्नेह कश्यप, पेरेंट्स असोसिअशन के सदस्य पी बाबू राव जमशेदपुर से, रेड क्रॉस धनबाद के कौशेंद्र कुमार और सीआरसी रांची के डायरेक्टर जितेंद्र यादव स्पेशल ओलंपिक्स भारत के सतबीर सिंह शामिल थे। पहला कदम के संस्थापिका तथा लोकल लेवल समिति के NGO सदस्य  अनीता अग्रवाल ने कानूनी अभिभावकता और विकलांगता प्रमाण पत्र उनके पेंशन के संबंध में दिव्यांगजनों की समस्याओं पर प्रकाश डाला। पहला कदम स्कूल के सचिव के अनुसार इन दिव्यांगजनों की मदद के लिए सभी को आगे आना चाहिए। और दिव्यांगजनों को भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले सभी लाभ प्राप्त करने चाहिए जैसे: विकलांगता पेंशन, विकलांगता प्रमाण पत्र, रेलवे रियायत, और UDID कार्ड।
सुश्री अनीता अग्रवाल प्रत्येक माता-पिता से अपील करती हैं कि जिनके बच्चे बौद्धिक अक्षमता से पीड़ित हैं, वे आगे आएं और पहला कदम स्कूल के साथ कानूनी संरक्षकता प्राप्त करें।लीगल गार्जियन की नियुक्ति क्यों करें?
1. कानूनी रिक्तता को भरने के लिए क्योंकि संरक्षकता के अन्य कानून केवल अवयस्कों के लिए हैं
2. विकलांग व्यक्तियों की सूचित निर्णय लेने की क्षमता में कमी।आदि कई सारे मुख्य प्रश्नो पर भी चर्चाएं हई |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *