कोरोना पर भारी पड़ी आस्था: नाग पूजा के समापन पर कन्हवारा में उमड़ा आस्था का सैलाब

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: वार्षिक नाग पूजा के समापन के अवसर पर जिला मुख्यालय के पड़ोस में स्थित कन्हवारा गांव में बुधवार को आस्था का सैलाब उमड़ा। कोरोना पर धार्मिक आस्था हावी रही। सरकार के गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते हुए श्रद्धालुओं ने नाग पूजा के समापन पूजा में शिरकत किया।
सदर प्रखंड के कन्हवारा गांव में बुधवार को नाग पूजा का समापन हो गया। हर वर्ष आद्रा नक्षत्र के प्रारंभ होने पर गांव में नाग पूजा का आयोजन होता है, जो 15 दिनों तक चलता है। आद्रा नक्षत्र के अंतिम दिन वार्षिक पूजा का समापन होता है।
नाग पूजा के समापन के दिन बुधवार को अहले सुबह से ही नाग थान पर डलिया चढ़ाने के लिए श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो गया था, जो शाम तक जारी रहा। मौके पर हजारों श्रद्धालुओं ने नाग बाबा की पूजा की। लोगों के चेहरे पर कोरोना का जरा भी भय नहीं था। अधिकांश लोग चेहरे पर बिना मास्क लगाए पूजा में सम्मिलित हुए थे। आस्था के समक्ष भीड़ नहीं लगाने संबंधी आयोजकों के मंसूबे पर पानी फिर गया। मौके पर गांव में मेलानुमा दृश्य था। उल्लेखनीय है कि इलाके में वार्षिक नाग पूजा को काफी महत्व दिया जाता है। वार्षिक नाग पूजा के प्रारंभ होने के दिन से ही श्रद्धालु पूजा करने के लिए पहुंचते हैं, लेकिन समापन के दिन भारी भीड़ होती है।