खेतों में जलजमाव से किसान परेशान

कामिल की रिपोर्ट
बसंतराय: प्रखंड अंतर्गत बसखोरिया मौजा के किसानों लामबंद होकर बुधवार को प्रखंड कार्यालय पहुंचे। प्रखंड कार्यालय में दर्जनों किसानों ने एकत्रित होकर प्रखंड विकास पदाधिकारी मुंशी राम को आवेदन देकर खेती किसानी पर मंडरा आ रहे संकट से निजात दिलाने की गुहार लगाई।
उल्लेखनीय है कि अतिवृष्टि के कारण खेतों में जलजमाव हो गया है। इसके कारण किसान काफी परेशान हैं। मौके पर किसान एहतेशाम उल हक और इरफान आलम ने बताया कि खेती का समय चल रहा है। ऐसे वक्त में बसखोरिया मौजा की लगभग 300 बीघा जमीन जलमग्न है। खेतो में जल जमाव हो जाने के कारण किसान खेती नहीं कर पा रहे हैं। खेती करने के लिए बोया गया बिचड़ा (धान का बीज) सड़ चुका है। बीते दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण खेतो में जल जमाव हो गया है। इस कारण हम सभी किसान खेतो की जुताई अब तक नहीं कर पाए हैं।
किसान मुहम्मद इदरीश ने बताया कि समाज के कुछ दबंग व्यक्तियों द्वारा जल निकासी के मार्ग को अवरुद्ध कर अतिक्रमण कर लिया गया है, जिस कारण पानी निकास नहीं हो पा रहा। ऐसे में सैकड़ों किसानों के पेट पर सीधा सीधा असर पड़ने वाला है।
मौके पर मौजूद किसान शाहबाज आलम ने बताया कि अगर हम सभी किसानों की समस्या का निपटारा जल्द नहीं किया गया तो गांव के सैकड़ों किसानों के समक्ष भुखमरी की स्थिति आ पड़ेगी। सभी किसानों ने एक स्वर में कहा कि अगर समस्या का समाधान जल्द नहीं किया गया तो प्रखंड कार्यालय के समक्ष धरना दिया जाएगा।
किसानों से जुड़ा मामला बेहद संगीन प्रतीत होता है। एक तरफ जहां प्रदेश सरकार किसानों के बेहतरी के लिए कृषि ऋण माफी,फसल बीमा सहित अन्य योजना लाती है ताकि प्रदेश के किसानों के हालात बेहतर हो सके। मौके पर मौजूद किसान इरफान आलम, एहतेशाम उल हक, मोहम्मद शाहनवाज आलम, बिलाय यादव,नकुल शाह, राजेंद्र शाह, सदानंद साह आदि किसानों ने अवरुद्ध किया गया जल निकासी मार्ग को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है।
प्रखंड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी मुंशी राम ने कहा की आवेदन प्राप्त हुआ है। जांच पड़ताल कर जल्द ही समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।