कालाबाजारी के कारण दो दवा दुकान समेत चार दुकानों को किया गया सील

– गोड्डा में मेडिकल स्टोर एवं कपड़ा दुकानों पर की गई ताबड़तोड़ छापेमारी
अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: जानलेवा कोरोना महामारी के त्रासदी काल में जहां अनेकों लोग मानवता का रक्षक बनकर पीड़ितों को भरपूर सहयोग कर रहे हैं, वहीं ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो आपदा को अवैध कमाई का अवसर बनाते हुए मानवता को शर्मसार कर रहे हैं। आपदा को अवैध कमाई का जरिया बनाने वाले लोग जीवन रक्षक उपकरणों एवं दवाओं की कालाबाजारी करते हुए अपनी तिजोरी भरने में लगे हुए हैं। मानवता को कलंकित करने वालों के खिलाफ शनिवार को प्रशासन की गाज गिरी। अनुमंडल पदाधिकारी ने कालाबाजारी करने के आरोप में जिला मुख्यालय स्थित दो दवाई दुकान समेत चार दुकानों को सील करते हुए कालाबाजारी करने वाले एवं गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले दुकानदारों को कड़ा संदेश देने का काम किया है।
प्रशासन को जानकारी मिल रही थी कि कुछ दवा दुकानदार जीवन रक्षक उपकरणों एवं दवाओं की जमकर कालाबाजारी कर रहे हैं। वहीं कुछ कपड़ा दुकानदार पिछले दरवाजे से व्यवसाय चला रहे हैं। इस सूचना पर अनुमंडल पदाधिकारी ऋतुराज के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा शनिवार को शहर के मेडिकल दुकानों एवं कपड़ा दुकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की गयी। दो दुकानों को सील कर दिया गया, वही दर्जन भर से अधिक दुकानदारों को चेतावनी दी गयी।
प्रशासन को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ मेडिकल दुकानदार दवाई और मेडिकल टूल्स की कालाबाजारी कर रहे हैं। एक हजार रुपए के ऑक्सीमीटर को ढाई से तीन हजार में बेच रहे हैं। वही कुछ दवाइयों की भी कालाबाजारी कर रहे हैं। कालाबाजारी करने वालों को रंगे हाथों पकड़ने के लिए एसडीओ की अगुवाई में गठित टीम के सदस्य दवा दुकानों में ग्राहक बनकर पहुंच रहे थे। इस क्रम में शहर के मुख्य कारगिल चौक पर स्थित राज मेडिकल स्टोर और पीरपैंती रोड में स्थित शिवशक्ति मेडिकल को सील कर दिया गया। वहीं पार्वती मेडिकल को चेतावनी दी गयी। एसडीओ ने दवा दुकानदारों को सख्त लहजे में चेतावनी दी कि कोई भी मेडिकल टूल्स बिना चालान के नहीं बेचेंगे। एसडीओ ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोविड के दवाइयों व अन्य टूल्स के खरीद बिक्री का पूरा ब्योरा दें।

गाइडलाइन की अनदेखी करने वाले दो कपड़ा दुकानें सील

मिनी लॉकडाउन के नियम को ताक पर रख कर दुकानदारी कर रहे कपड़ा दुकान व जूता चप्पल दुकानों पर भी नकेल कसा गया। शहर भर के दुकानों पर छापेमारी की गयी। विभाग को यह सूचना मिली थी कि शटर डाउन कर दुकानदारों द्वारा बिक्री की जा रही है। इसी आधार पर मेन बाजार में छापेमारी की गयी। शटर डाउन कर दुकानदारी कर रहे दुकानों को सील किया गया। कृष्णा टेक्सटाइल्स एवं सेलिब्रेशन को सील किया गया। वहीं अन्य दुकानदारों को चेतावनी दी गयी। छापेमारी टीम में नगर परिषद के सिटी मैनेजर मूर्तजा अंसारी, नगर परिषद के कार्यालय कर्मी भास्कर कुमार, महीरूद्दीन, जलाल अंसारी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *