मोदी सरकार के 7 वर्षों के कुशासन से आम जनता परेशान :आलोक कुमार दुबे

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट

रामगढ़:  झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने रामगढ़ में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले भाजपा ने सत्ता में आने पर प्रतिवर्ष दो करोड़ लोगों को नौकरी देने, पेट्रोल-डीजल की कीमत 40-45 रुपये करने, गरीबी दूर करने, विदेशों में जमा काला धन वापस लाने और प्रत्येक नागरिकों के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा कराने समेत कई अन्य लोकलुभावन वायदा किया था। इन वायदों की सच्चाई देश-दुनिया के सामने हैं। सात वर्षां में मोदी सरकार की गलत नीतियों और कुशासन से देश का हर आम नागरिक परेशान नजर आ रहा है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर वर्ष देश में 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वायदा किया था,लेकिन सिर्फ सात वर्षा के कार्यकाल में ही 16 करोड़ लोगों को रोजगार खोना पड़ा है। इस दरम्यान करीब 23 करोड़ मध्यमवर्गीय परिवार गायब हो गये थे, अर्थात गरीबी रेखा से नीचे आ गये।
पेट्रोल-डीजल की कीमत 100 रुपये पहुंच गयी है। सरसो तेल, दाल और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोत्तरी हुई है। रोजगार खोने और महंगाई बढ़ने से आम लोगों की हालत किस तरह की हो गयी है, इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। वहीं महंगाई के खिलाफ बोलने वाले नागरिकों, रोजगार मांगने वाले युवाओं और काले कृषि कानून को वापस लेने की मांग करने वाले किसानों को राष्ट्रविरोधी करार दिया गया है। कोरोना संक्रमण काल में जब देशभर में उद्योग धंधे बंद हो गये, लोगों की नौकरी छीन गयी, अर्थव्यवस्था चौपट हो गयी, उस दौरान भी मोदी सरकार के एक-दो पूंजीपति मित्रों ने कई हजार गुणा मुनाफा कमाया और आज वे देश-दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में शामिल हो गये है।
प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि देश-दुनिया के विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना संक्रमण के दूसरे लहर में मची अफरा-तफरी के लिए पूरी तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिम्मेवार है और यह प्राकृतिक आपदा नहीं था, बल्कि मोदी जनित आपदा था। जबकि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी बार-बार कोरोना संक्रमण के खतरे से देश को आगाह कर रहे थे, सरकार से आवश्यक कदम उठाने की अपील कर रहे थे,। उन्होंने कहा कि अभी राहुल गांधी ने कोरोना की तीसरी से निपटने के लिए सरकार की आवश्यक तैयारियां पूरी करने की मांग कर रहे है। देश के सबसे बड़े चिकित्सीय संस्थान नई दिल्ली स्थित एम्स के डॉक्टरों ने भी अगले कुछ दिनों में तीसरी लहर की चेतावनी दी है। इससे निपटने के लिए पर्याप्त कदम उठाये जाने की जरुरत है। राज्य सरकार ने इसी को ध्यान में रखते हुए आवश्यक तैयारियां में जुटी है। स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत बिना लॉकडाउन किये ना सिर्फ दूसरे वेब पर काबू पाया गया, बल्कि लगातार आधारभूत संरचना को बढ़ाने का काम किया जा रहा है। वहीं इस दौरान भाजपा कार्यालय में ताला लटका रहा, भाजपा के तीन-तीन पूर्व मुख्यमंत्री की भूमिका पूरी तरह से नदारत रही और अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी होने के बाद भाजपा नेता फिर से राजनीतिक बयानबाजी कर मीडिया की सुर्खियों में बने रहने की कोशिश कर रहे हैं।
इस मौके पर रामगढ़ जिला कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष मुन्ना पासवान,प्रवक्ता मुकेश यादव,नगर अध्यक्ष संजय साहू,अनिल नायक,गुलाम अली भी उपस्थित थे।