गुमला जिले में सरकार के निर्देशों का नहीं हो रहा है पालन : जुम्मन खान

सरकारी निर्देशों का पालन नहीं कर पर्यावरण प्रदूषण से कर रहे हैं खिलवाड़, जांच कर कार्रवाई हो

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला।फ्लाई ऐश से भवन आदि का निर्माण कराने का सरकारी निर्देश जिला प्रशासन के उपायुक्त के द्वारा दी गई है। लेकिन गुमला जिला में सरकार के इन नियम कानूनों का पालन नहीं हो रहा है। इस संबंध में मजदूर यूनियन संगठन सीएफटीयूआई के गुमला जिला अध्यक्ष जुम्मन खान ने कहा की झारखंड सरकार के द्वारा जारी किये गये निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है और खुलेआम लाल ईंट का प्रयोग की जा रही है। उन्होंने कि लाल ईट का उपयोग नहीं करना है ।जिसे गुमला उपायुक्त ने अखबार के माध्यम से सुचित किये थे । ऐसे में आखिर क्या कारण है कि झारखंड सरकार एवं गुमला प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा जारी किया गया नियमों को खुले आम दर किनार किया जा रहा हैं|
लगभग हर जगह पर लाल ईट का उपयोग किया जा रहा है|सिलम पुलिस कैंप के पास स्टेडियम 2 में ,तथा जिला के सभी जगहों पर सरकारी योजना में उपयोग किया जा रहा है|इस पर खुले आम सरकारी नियमों का उलघंन हो रहा है|इस पर जल्द से जल्द जिला प्रशासन कारवाई करें और लाल ईट पर रोक लगायें|उन्होंने कहा है कि
फ्लाई ऐश से भवन आदि का निर्माण कराने का सरकारी निर्देश जिला प्रशासन के उपायुक्त के द्वारा दी गई है। लेकिन गुमला जिला में इन सरकार के नियम कानूनों का पालन नहीं हो रहा है जो कि खेद का विषय है। श्री खान ने कहा है कि पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए लाल ईंटों के प्रयोग पर रोक लगाई गई है।इसके बाद भी सरकारी पदाधिकारी एवं कर्मचारियों तथा ठेकेदारों के द्वारा इन नियम कानूनों का अगर पालन नहीं किया जाए तो पर्यावरण से खिलवाड़ करने वाले अधिकारी कर्मचारी एवं ठेकेदारों को चिन्हित कर कार्रवाई करने की कृपा करें जिससे कि पर्यावरण को बचाया जा सके।