हरगौरी कृषक उत्पादन संगठन किसानों को सिखा रहा आधुनिक तरीके से खेती करने का गुर

– सीमावर्ती क्षेत्र के बहुरिया गांव में किसानों को आधुनिक खेती करने के लिए किया गया प्रेरित
गोड्डा: हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन द्वारा किसानों को आधुनिक तरीके से खेती करने एवं अपनी आय में वृद्धि करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। संगठन के चेयरमैन अमरेंद्र कुमार अमर इस दिशा में लगातार सक्रिय हैं। श्री अमर के प्रयास से प्रेरित होकर झारखंड मुक्ति मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश मंडल ने अपने पैतृक गांव के किसानों को आधुनिक तरीके से खेती करने के लिए वातावरण बनाना प्रारंभ कर दिया है।
हरगौरी कृषक उत्पादन संगठन के तत्वावधान में सदर प्रखंड के अमलो पंचायत अंतर्गत ग्राम बहुरिया में मंगलवार को कृषकों की एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक की अध्यक्षता गांव के धरतीपुत्र एवं झामुमो के केंद्रीय समिति सदस्य राजेश मंडल ने की। इस बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में कृषि विभाग आत्मा के उप परियोजना निदेशक राकेश सिंह उपस्थित हुए। बैठक का संचालन हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन के चेयरमैन अमरेंद्र कुमार अमर ने किया।
मालूम हो कि बहुरिया गांव जिला मुख्यालय से करीब 22 किलोमीटर की दूरी पर झारखंड एवं बिहार की सीमा पर अवस्थित है। इस गांव में कृषि संबंधित आज तक किसी भी प्रकार की सरकार की योजनाएं नहीं पहुंच पा रही थी। श्री मंडल और ग्रामीणों के आग्रह पर हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन ने इस गांव के कृषकों के साथ जागरूकता और कृषि संबंधी सारी जानकारियां देने का निश्चय लिया। इसी क्रम में सरकार के द्वारा कृषि, मत्स्य पालन ,उद्यान, वानिकी, बागवानी, पशु पालन, गोपालन, प्रशिक्षण, प्रत्यक्षण से संबंधित विभिन्न तरह के गाइड बुक कृषकों के बीच वितरित किया गया और उन्हें योजनाओं की जानकारी दी गई।
मिट्टी परीक्षण से लेकर अनेक तकनीकी ज्ञान किसानों को दिया गया। हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन के द्वारा बैठक में उपस्थित सभी किसानों को रेड लेडी पपीता के दो पौधे ,अरहर के बीज, बैगन का पौधे, दवाई, कृषक समूह से जुड़ने के लिए नाबार्ड और कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा जारी गाइड बुक मुफ्त में प्रदान किया गया। हरगौरी कृषि उत्पादन संगठन के चेयरमेन श्री अमर ने बहुत तरह की तकनीकी जानकारी किसानों को दी। बैठक में मुख्य अतिथि कृषि विभाग आत्मा के उप परियोजना निदेशक राकेश सिंह ने हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन की इस प्रयास के लिए बहुत सराहना की। कहा कि हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन नित्य नए-नए आयामों को छू रही है। उन्होंने उपस्थित सभी कृषक को आत्मा के द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने आश्वस्त किया कि अब तक अछूते इस गांव को भविष्य में सारी योजनाओं से आच्छादित किया जाएगा। आत्मा द्वारा प्रकाशित सब्जी कैसे उगाएं नामक पुस्तिका सभी कृषकों को उन्होंने वितरण किया। श्री राकेश के कर कमलों से सभी तरह के पौधों का भी वितरण किया गया। उन्होंने राजेश मंडल जैसे सामाजिक एवं राजनीतिक के नेता के द्वारा उठाए गए इस पहल की सराहना की। अब बहुरिया के किसान भी हरगौरी कृषक उत्पादक संगठन से जुड़ कर नए नए तकनीक से आम, अमरूद, पपीता, केला, नाशपाती, सेब, शरीफा, बेर, उच्च मूल्य वर्ग की सब्जियां बिल्कुल ही जैविक तरीके से उत्पादन करेंगे और इसकी मार्केटिंग हरगौरी कृषि उत्पादक संगठन करेगी ।
राजेश मंडल ने उपस्थित सभी किसानों से अपील की कि हम लोग सभी गांव वासी संगठित होकर हरगौरी कृषक समूह से जुड़कर आधुनिक तकनीक से खेती करेंगे। इसके लिए उन्हें जो करना होगा, अपने गांव के लिए तैयार हूं। श्री मंडल ने कहा, ” मैं इसी मिट्टी में जन्म लिया हूं और इस मिट्टी के लिए कुछ करने की मुझ में तमन्ना है।” हमलोग इस गांव को आगे बढ़ाएंगे और जिला में कृषि के क्षेत्र में इसका नाम ऊंचा करेंगे।
उन्होंने उपस्थित सभी किसानों को सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली के बारे में भी जानकारी दी। साथ ही उन्होंने जिला प्रशासन से भी आग्रह किया कि हमारे गांव के कुछ कृषकों को सोलर सिंचाई पंप की सुविधा प्रदान किया जाए, जिससे उनके फसलों की लागत कम से कम हो सके। इस बैठक को सफल बनाने के लिए नितेश कुमार, राघव मिश्रा, संजीव रावत, मुकेश शाह, सीताराम रावत नेकड़ी मेहनत की।
इस कार्यक्रम से बहुरिया गांव के सभी किसानों में खुशी देखी गई और उन्होंने भविष्य में इस तरह के कार्यक्रम पुनः आयोजित करने का इच्छा जताई।

बैठक में आत्मा के उप परियोजना निदेशक राकेश सिंह के द्वारा वैसे किसानों, जिन्हें किसान क्रेडिट कार्ड नहीं है, उन्हें केसीसी का फॉर्म उपलब्ध कराया गया। कहा कि अभी सरकार का लक्ष्य है कि सभी किसानों का किसान क्रेडिट कार्ड अविलंब बनाया जाए। कृषक केसीसी निश्चित रूप से भरकर अपने कृषक समूह के माध्यम से जल्द से जल्द जमा कर दें।