ऑनर किलिंग: प्रेम प्रसंग के कारण पोती की गला दबाकर दादा ने की थी हत्या

– ओल्की कुमारी हत्याकांड का पुलिस ने किया उद्भेदन
– लतौना तालाब में बोरे में बंद मिली थी ओल्की की लाश
– पश्चिम बंगाल के मालदा जिला की रहने वाली थी मृतका
– 15 दिन पहले गांधीग्राम में फूफा के घर आई थी रहने
अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जामजोड़ी मौजा के लतौना तालाब से बरामद बोरे में बंद युवती की लाश के मामले का पुलिस ने उद्भेदन कर दिया है। मृतका पश्चिम बंगाल के मालदा जिला की रहने वाली थी। पुलिस के अनुसंधान से इस बात का खुलासा हुआ है कि यह हत्याकांड ऑनर किलिंग का मामला है। प्रेमी से शादी करने की जिद पर अड़ी ओल्की कुमारी (18) की हत्या दादा ने ही गला दबाकर कर दी थी। शव को दो दिन तक इस जिले के पथरगामा प्रखंड के गांधीग्राम में स्थित मृतका के फूफा के घर में छिपा कर रखा गया था। दो दिन के बाद बोरे में बंद करके लाश लतौना तालाब में पत्थर बांधकर फेंक दिया गया था। पुलिस ने इस मामले में दादा समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। लाश को ठिकाने लगाने में प्रयुक्त गाड़ी भी बरामद कर ली गई है।
रविवार को अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया। बताया कि 13 जुलाई 2021 को दिन के करीब 1.30 बजे थाना प्रभारी, गोड्डा (मुफस्सिल) को जामजोड़ी मौजा के लतौना तालाब में एक बोरा में महिला का शव मिलने की सूचना मिली थी। सूचना के मिलने के उपरांत थाना प्रभारी, गोड्डा (मु) के द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए मौजा जामजोड़ी स्थित लतौना तालाब के पास जाकर शव को अपने कब्जे में लिया गया। स्थानीय लोगों के द्वारा मृतका की पहचान नहीं की गई। पुलिस के द्वारा आवश्यक कार्रवाई करते हुए चौकीदार सनत टुडू,साकिन कारी टोला परसपानी, थाना गोड्डा (मु) के फर्द बयान के आधार पर गोड्डा (मु) थाना कांड संख्या 239 / 2021, दिनांक 14.07 2021 धारा-302/201/34 भादवि अज्ञात अभियुक्तों के विरूद्ध अंकित कर कांड का अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

एसडीपीओ को सौंपा गया था जांच का जिम्मा

मामला की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री रमेश द्वारा कांड का उद्भेदन करने एवं संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, गोड्डा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। गठित टीम के द्वारा कांड में संलिप्त अभियुक्तों का पता लगाने के लिए तकनीकी माध्यमों एवं अन्य श्रोतों से पता कर राज्य से बाहर जिला मालदा, पश्चिम बंगाल जाकर संदिग्ध सुन्दर यादव एवं फुल कुमार यादव दोनो पिता- नगदी यादव एवं शिव कुमार यादव, पिता जगदीश यादव तीनों साकिन केनबोना, थाना-गजोल, जिला- मालदा, 4. सुदामा यादव, पिता रंजीत यादव साकिन आनंदपुर, थाना-गजोल, जिला- मालदा, पश्चिम बंगाल को कांड से संबंधित आवश्यक पूछताछ हेतु थाना लाया गया।

थाना पर पूछताछ के क्रम में सुन्दर यादव, पिता नगदी यादव द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया गया कि मृतका ओल्की कुमारी, उम्र करीब 18 वर्ष, पिता-घनश्याम उर्फ दुलाल यादव, साकिन केनबोना, थाना- गजोल. जिला- मालदा उनकी भतीजी थी। साथ ही बताया गया कि मृतका ओल्की कुमारी का प्रेम संबंध गांव के ही एक लड़का से था। परिवार के लोग उस प्रेम संबंध के विरोध में थे। जिसके कारण करीब 15 दिन पूर्व मृतका को उसके फुफा संजीव कुमार यादव, पेसर रंजीत प्रसाद यादव, साकिन गांधीग्राम, थाना पथरगामा, जिला-गोड्डा के घर दादा नमदी यादव लेकर गए थे। गांधीग्राम आने के बाद ओल्की की शादी मिर्जाचौकी में तय किया गया। परन्तु उसने शादी करने से इंकार दी।
ओल्की के शादी करने से इनकार करने पर परिजन खफा हो गए।
9 जुलाई को रात्रि में ओल्की के दादा नगदी यादव, बड़े दादा जगदीश यादव दोनों पिता स्व तुरुी यादव, साकिन केनबोना, थाना गजोल, जिला- मालदा के द्वारा उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई। मृतका के शव दो दिन घर में रखने के उपरांत 11 जुलाई को दोनों दादा एवं मृतका के पिता घनश्याम यादव उर्फ दुलाल यादव, मृतका के चाचा सुन्दर यादव दोनो पिता-नगदी यादव, सुधीर यादव, साकेत यादव, दोनों पिता राममुनी यादव, साकिन महुआसोल, थाना-पथरगामा, जिला-गोड्डा के सहयोग से शव को बोरा में बंद कर पत्थर से बांध कर वाहन संख्या बीआर 10 पी 1124 (सूमो विक्टा एक्स ) से ले जाकर लतौना तलाब में रात्रि करीब 11 बजे फेंक दिया गया।

मृतका के चाचा सुन्दर यादव के स्वीकारोक्ति बयान पर सुन्दर यादव, पिता नगदी यादव, साकिन केनबोना, थाना-गजोल, जिला-मालदा, संजीव कुमार यादव, पिता रंजीत प्रसाद यादव, साकिन गांधीग्राम, थाना पथरगामा एवं सुधीर यादव, पिता राममुनी यादव, साकिन महुआसोल थाना-पथरगामा जिला-गोड्डा को गिरफ्तार किया गया। साथ ही अभियुक्त के निशानदेही पर कांड में प्रयुक्त वाहन को जब्त किया गया। अभियुक्त सुन्दर यादव का मोबाइल बरामद किया गया है।
पुलिस अधीक्षक श्री रमेश ने बताया कि इस कांड के अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जल्द मालदा जिला जाएगी।

कौन कौन थे पुलिस टीम में शामिल

इस हत्या कांड के उद्भेदन के लिए गठित पुलिस टीम में गोड्डा के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी
आनंद मोहन सिंह,, पथरगामा के पुलिस निरीक्षक बलबीर सिंह, मुफस्सिल थाना के प्रभारी अरुण कुमार, पथरगामा के थाना प्रभारी बलिराम राउत, मुफस्सिल थाना के सब इंस्पेक्टर अजीत कुमार वर्मा एवं पथरगामा थाना के सब इंस्पेक्टर सुरज कुमार शामिल थे।