हेसला में आदिवासी समाज की महिलाओं ने पारंपरिक गीतों के साथ खेतो में किया धन रोपनी

सिरका: हेसला के खेतीहर खेतों में सोमवार को दोपहर बाद आदिवासी समाज की महिलाओ, युवतियों ने टोली बना कतारबद्घ होकर धनरोपनी किया। इस दौरान महिलाओं ने श्रावण मास से जुड़े पारंपरिक ग्रामीण लोकगीत गांकर हंसी खुशी के साथ प्राकृतिक से अच्छा उपज के लिए कामना की। कृषक महिलाओं ने बताया कि इस वर्ष खेती के लिए मौसम प्रतिकूल रूप से ससमय के अनुसार वर्षा की हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में सभी सपरिवार खेती के लिए अपने खेतों, बारीयो में लगे हुए हैं। आशा है धान बिहन रोपा के बाद प्राकृतिक द्वारा वर्षा सही समय पर होगी और अच्छी धान की फसल हम लोगों को प्राप्त होगी। जिससे सालोभर का खाने पीने के लिए भंडारण हो पाएगा।