सरकारी कार्यक्रम में विधायक की जगह उनकी पत्नी बतौर मुख्य अतिथि पहुँची 

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: कहते हैं कि जब सैंया भए कोतवाल तो अब डर काहे का, यह बात आज के समय में पूरी तरह से चरितार्थ हो रही है ।ऐसा ही मामला आज देखने को मिला, जहां महिला समूह के बीच कृषि यंत्र वितरण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोकारो के भाजपा विधायक बिरंचि नारायण को आना था ,लेकिन उन्होंने अपनी धर्मपत्नी नीना नारायण को इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि भेज दिया। यह सरकारी कार्यक्रम था और यह कार्यक्रम भूमि संरक्षण विभाग की ओर से आयोजित किया गया था। लेकिन बिना किसी प्रोटोकॉल के विधायक की पत्नी यहां मुख्य अतिथि बनकर कार्यक्रम में शिरकत करने ली। महिला समूह के बीच मिनी ट्रैक्टर का भी वितरण किया और ट्रैक्टर चलाकर फोटो सेशन भी कराती नजर आई। हालांकि उनके साथ जिला परिषद की अध्यक्ष सुषमा देवी और चास प्रखंड प्रमुख सरिता देवी भी मौजूद थी ।लेकिन जिस प्रकार से विधायक ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए सरकारी कार्यक्रम में पत्नी को मुख्य अतिथि बना कर भेज दिया वह कहीं से भी सही नहीं दिखता है। हालांकि जब भूमि संरक्षण पदाधिकारी बृजलाल प्रसाद से इस बाबत सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए बोकारो विधायक को निमंत्रण भेजा गया था ,वह शायद बाहर हैं। इसीलिए पत्नी को यहां भेजा होगा ।
भाई जिला परिषद अध्यक्ष से जब इस पर सवाल किया गया तो उन्होंने कैमरे पर तो कुछ भी बोलने से इनकार किया लेकिन कहा इस तरह की हरकत हम लोग नहीं करते हैं ।अब बड़ा सवाल यह है कि जब जनप्रतिनिधि खुद ही नियम कानून की धज्जियां उड़ाने लगे तो और लोग नियम को कैसे मानेंगे।