वरीय अधिकारियों की जांच में खुल रही सुमित हत्याकांड की कलई

कॉल डिटेल्स के आधार पर पुलिस कर रही जांच

जल्द ही मामले की पर्दाफाश होने की संभावना

हरिहरगंज से प्रसिद्ध कुमार अम्बेडकर की रिपोर्ट

हरिहरगंज (पलामू)।हरिहरगंज के बहुचर्चित सुमित हत्याकांड की जांच में वरीय पुलिस अधिकारी जुड़े हैं। इस कांड की जांच को लेकर एसआईटी का गठन किया गया है। जिसका नेतृत्व छतरपुर डीएसपी अजय कुमार कर रहे हैं।इस टीम में हरिहरगंज, छतरपुर व नौडीहा के थाना प्रभारी शामिल किए गए हैं।पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा इस मामले की जांच करने सोमवार को खुद हरिहरगंज पहुंचे। वे पीड़ित के घर भी गए और परिजनों से आवश्यक जानकारी ली।इस मामले में पुलिस ने हरिहरगंज थाना क्षेत्र के भगत तेंदुआ निवासी मनीष उर्फ रिंकू सिंह नामक व्यक्ति को गिरफ्त में लिया है। और उससे पूछताछ कर रही है।एसपी ने मनीष के हवाले से बताया कि सुमित को उसके मित्रों ने हरिहरगंज थाना क्षेत्र के सियरभूका निवासी भूषण मेहता को सबक सिखाने के उद्देश्य से रात्रि में फोन पर उसे बुलाया था।भूषण को उसके मित्र पंकज से विवाद था। जानकारी यह भी मिली है कि सुमित को बुलाने से पहले उसके मित्र सियरभुका गए थे पर भूषण के द्वारा पुलिस को बुलाने की धमकी देने के बाद वे वहां से भाग निकले और सबक सिखाने की जुगाड़ करने लगे।हिरासत में लिए गए मनीष के अनुसार सुमित के मित्र की मिस फायरिंग की गोली ही उसे लग गयी। इससे उसके मित्र घबरा गए और उसने भगत तेंदुआ के मनीष उर्फ रिंकू सिंह को शनिवार की रात्रि 12:13 बजे फोन कर कहा कि मुसीबत में है जल्दी आइए और जान बचाईये।जिसके बाद मनीष ने गाड़ी लेकर आ ही रहा था कि मनीष बेलौदर मोड़ के समीप पंकज और छोटू से मिला और पंकज के कपड़े में खून के कई धब्बे देखे।मनीष ने मित्रता निभाते हुए पंकज व छोटू को टंडवा थाना क्षेत्र के बेनी गांव पहुंचाया।जिस गाड़ी से पंकज को पहुंचाया गया उसे पुलिस ने जप्त कर लिया है। पत्रकारों को जानकारी देते हुए पलामू एसपी ने बताया कि घटना से पहले रात में हरिहरगंज के पंकज सिंह व छोटू सिंह, पिपरा थाना क्षेत्र के गहोरा निवासी अनिमेष सिंह, कुटुंबा थाना क्षेत्र के डिहरी गांव निवासी धर्मेंद्र सिंह तथा औरंगाबाद के अंकित कुमार ने भगत तेंदुआ स्थित सहारा होटल में एक साथ खाया पिया था।पलामू एसपी ने बताया कि उक्त पांचों आरोपी अभी फरार हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही मामला स्पष्ट होगा कि हत्या कौन किया है।वहीं उन्होंने कहा कि मृतक सुमित के गाड़ी से पिस्टल का एक खोखा भी बरामद की गयी है।