वैदिक मंत्रोच्चार के मध्य नवनिर्मित भव्य शिव मंदिर में हुई शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा

राज्य के आदिवासी कल्याण सह परिवहन मंत्री ने भोलेनाथ के दरबार में मत्था टेक राज्य के कुशल क्षेम एवं उत्थान के लिए की प्रार्थना

सरायकेला। सरायकेला शहरी क्षेत्र अंतर्गत इंद्रटांडी मोहल्ले में नवनिर्मित भव्य शिवमंदिर में वृहस्पतिवार को शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा का धार्मिक अनुष्ठान कार्यक्रम किया गया। जिसका शुभारंभ प्रातः छह बजे से108 कलशों की भव्य कलश यात्रा के साथ किया गया। खरकाई नदी के जगन्नाथ घाट से कलश यात्रा बाबा भोलेनाथ की जयकारे के साथ निकली। पुरोहित अंबुयाक्ष आचार्य, प्रदीप दाश, नलिनी कांत आचार्य, रंजन कुमार पति, दीपक सारंगी, प्रभात कुमार सतपति, आयुष्मान ऋषु दाश, उज्जवल कुमार सिंह एवं अन्य के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कलश स्थापना और शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा की गई। मौके पर शिव भक्तों के बीच प्रसाद का वितरण भी किया गया। मौके पर बतौर मुख्य अतिथि राज्य सरकार के परिवहन सह आदिवासी कल्याण मंत्री चंपाई सोरेन नवनिर्मित शिव मंदिर पहुंचे। जहां पूजा अर्चना कार्यक्रम में भाग लेते हुए उन्होंने बाबा भोलेनाथ के दरबार में मत्था टेका। इस अवसर पर उन्होंने राज्य के सुख शांति एवं समृद्धि तथा सतत विकास की मंगल कामना की।
भव्य शिव मंदिर निर्माण एवं प्राण प्रतिष्ठा के धार्मिक अनुष्ठान में अग्रणी रहे सानंद आचार्य उर्फ टिलू, शांतनु सतपति एवं पार्थसारथी आचार्य ने बताया कि सरायकेला सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति इंद्रटांडी के कार्यकर्ताओं एवं सदस्यों तथा मोहल्ले के सभी परिवारों के सहयोग एवं निष्ठा से मात्र तीन महीने में ही भव्य शिव मंदिर के निर्माण के साथ प्राण प्रतिष्ठा संभव हो पाई है।