जेपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 19 को, डीडीसी ने की संबंधित अधिकारियों व केन्द्र अधीक्षकों संग बैठक

— जिले के 22 परीक्षा केन्द्रों में 9743 परीक्षार्थी जे.पी.एस.सी प्रारंभिक परीक्षा में होंगे शामिल

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला। समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में शुक्रवार को उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई ने 19 सितंबर को होने वाले झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा (जेपीएससी) की प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 2021 के सफल संचालन को लेकर सम्बंधित पदाधिकारी एवं परीक्षा केंद्र अधीक्षकों सहित बैठक की।
बैठक में केंद्राधीक्षकों को झारखण्ड लोक सेवा आयोग, रांची द्वारा प्राप्त दिशा निर्देशों के संबंध विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। उप विकास आयुक्त ने कहा परीक्षा के आयोजन की सफलता केन्द्राधीक्षकों की सजगता एवं सक्रियता पर निर्भर करेगा। उन्होने बताया 24×7 जिला स्तरीय कंट्रोल रूम कार्यरत रहेगा, किसी भी तरह की समस्या आने पर वे उच्चाधिकारियों से भी तत्काल संपर्क कर सकते हैं। केंद्राधीक्षक को कदाचार मुक्त परीक्षा कराने को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बेंच-डेस्क की व्यवस्था सुनिश्चित करने, दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए रैम्प, प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग व सेनिटाइजेशन करने, सीटिंग अरेंजमेंट का चार्ट चिपकाने तथा परीक्षार्थियों के लिए पंखा, पेयजल, शौचालय, साफ सफाई की व्यवस्था, महिला-पुरुष शौचालय की अलग अलग व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया गया। परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। पहली पाली पूर्वाह्न 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा दूसरी पाली दोपहर दो बजे से अपराह्न चार बजे तक होगी।
अनुमंडल पदाधिकारी सरायकेला राम कृष्ण कुमार ने बताया कि जिले में कुल 22 परीक्षा केन्द्रों में 9743 परीक्षार्थी जे.पी.एस.सी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होंगे। परीक्षा केंद्र के अंदर किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक गैजेट्स जैसे मोबाइल, टैबलेट, ब्लूटूथ, कैलकुलेटर, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी आदि डिजिटल उपकरण ले जाना पूर्णत: निषेध रहेगा। परीक्षा हॉल में सेनिटाइजर एवं चस्मा के अलवा कोई भी उपकरण या अनावश्यक वस्तु ले जाने पर पूर्णतः निषेध रहेगा। निरीक्षण के दौरान किसी अभ्यर्थी के पास कोई डिजिटल उपकरण पाया गया तो कठोर कार्रवाई की जाएगी।
बैठक में DRDA निदेशक उमा महतो, जिला शिक्षा पदाधिकारी एस.डी तिग्गा, उप समहर्ता समान्य शाखा प्रियंका सिंह भी उपस्थित रहे ।