कलश यात्रा के साथ सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का शुभारंभ

बिन्दापाथर: बिन्दापाथर थाना क्षेत्र के सिमसडूबी पंचायत अन्तर्गत डॉड़ गांव के बजरंगबली मंदिर परिसर में बुधवार से भव्य कलश यात्रा के साथ सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का शुभारंभ हुआ। वृन्दावन धाम के श्री सौनेन्द्र कृष्ण शास्त्री वत्सल जी महाराज के सानिध्य में भव्य कलश यात्रा निकाली गई जिसमे 108 कन्या मिट्टी कलश के साथ शामिल हुए। कथावाचक श्री सौनेन्द्र कृष्ण शास्त्री वत्सल जी महाराज के द्वारा मधुवाचॉक-नामुजलांई के शिलानदी घाट के पवित्र जलाशय में वैदिक मंत्रोचारण एवं आवहन पूजन के उपरान्त 108 मिट्टी के कलश में नदी से जल संग्रह किया गया। तथा कन्याओं ने मधुवाचॉक-नामुजलांई के शिला नदी घाट से धर्म की जय हो, अर्धम की नाश हो आदि जयकारे एवं हरे कृष्ण हरे कृष्ण हरे राम आदि कीर्तन करते नामुजलांई, पाटनपुर, बाघमारा, डांढ़ समेत लगभग तीन किलोमीटर तक क्षेत्र का भ्रमण किया। इस शोभायात्रा में पारंपरिक बाद्ययंत्र और मंगलध्वनी के गूंजते रहने से आसपास का वातावरण भी भक्तिमय हो उठा। भागवत कथा स्थल तक पहुंचने तक की इस शोभायात्रा में कन्याओं के अलावा आसपास गांव के लोग काफी संख्या में बतौर दर्शनार्थी शामिल हुए। इस धार्मिक गतिविधि से क्षेत्र में भक्तिरस प्रवाहित होने लगी है। इस सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा सह प्रवचन का आयोजन होने से डांड़ गांव सहित नामुजलांई, बाघमारा, वड़वा, मंझलाडीह, जलांई, मोहजुड़ी, पिपला, पाटनपुर, सिमलडूबी, चड़कमारा, मोहनवॉक, लाकड़ाकुन्दा, बाबुडीह सहित पूरे क्षेत्र में भक्ति एवं उत्साह का माहौल बना हुआ है। इस सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का सफल संचालन के लिए डांड़ गांव के आयोजक कमेटी के सदस्य काफी सक्रिय दिखे।