पेयजल संकट से समाधान की ओर खूंटी नगर पंचायत इलाका

खूंटी: खूंटी नगर पंचायत इलाका इन दिनों पानी को लेकर पानी पानी होने लगा है। मई माह की भीषण गर्मी के आते ही जिले के नगर पंचायत के कई वार्डों में जलस्तर नीचे जाने लगा है। कई वार्डों में खूंटी विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने टैंकर से पेयजल की आपूर्ति भी प्रारंभ करायी, नगर पंचायत द्वारा प्रतिदिन दस टैंकर की व्यवस्था कर प्रत्येक वार्डों में जलापूर्ति आरम्भ करायी गयी लेकिन कोई न कोई स्थायी समाधान जलसंकट से निपटने के लिए जरूरी बन गया है।

वृहत पैमाने पर जलसंकट की वर्त्तमान समस्या से निजात दिलाने के लिए नगर पंचायत प्रबंधन ने नगर पंचायत के सभी 19 वार्डों में सोलर संचालित पेयजलापूर्ति अधिष्ठापन का कार्य आरंभ कर दिया है। सोलर संचालित पेयजलापूर्ति का कार्य दो माह में संपादित किया जाना था लेकिन शहरी पेयजल संकट ने नगर पंचायत को 2 माह के कार्य को मात्र 4 दिनों में पूरा कराने का टास्क निर्धारित कर दिया है। खूंटी नगर पंचायत के हरिजन मुहल्ला, वार्ड 3 का पिपराटोली, वार्ड 13 तोरपा रोड स्थित प्रेमनगर,  वार्ड 16, वार्ड 3 समेत कई इलाकों में आज से ही बोरिंग मशीन लगाकर धड़ल्ले से बोरिंग का कार्य आरंभ करा दिया गया है।

नगर पंचायत के सभी 19 वार्डों में जलसंकट से निपटने के लिए पूर्व की बोर्ड मीटिंग में 5-5लाख की लागत से बोरिंग कराने का कार्य प्रस्ताव पारित कराया गया था। नगर पंचायत क्षेत्र के 19 वार्डों में कुल 95 लाख की लागत से सोलर संचालित पेयजलापूर्ति का कार्य पूर्ण कराया जाना है। इसी क्रम में आनन फानन में बोरिंग का कार्य आरंभ करा दिया गया है। स्थानीय लोगों को उम्मीद है कि जल्द ही बोरिंग के माध्यम से नगर पंचायत इलाकों में पेयजल संकट का समाधान कर लिया जाएगा। कोरोना संकट काल मे जलसंकट नगर पंचायत इलाके के लोगों के लिए बड़ी समस्या बनी हुई थी। स्थानीय लोगों को उम्मीद है कि सोलर संचालित पेयजलापूर्ति नगर पंचायत के लोगों के लिए जीवनदायिनी साबित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *