सरकारी गाइडलाइन के तहत मां योगिनी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद

नितेश रंजन की रिपोर्ट
पथरगामा: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए राज्य में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह लागू है। राज्य सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन में धार्मिक स्थलों को श्रद्धालुओं के लिए बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। सरकारी आदेश के आलोक में
पथरगामा प्रखंड स्थित मां योगिनी शक्तिपीठ मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है। मंदिर प्रबंध समिति द्वारा मंदिर के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया गया है। श्रद्धालुओं के लिए पूजा पाठ के लिए मंदिर पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।
इसकी जानकारी देते हुए मंदिर के प्रधान पुजारी आशुतोष बाबा ने बताया कि मिनी लॉकडाउन लगने के बाद शक्ति पीठ मां योगिनी मंदिर में भक्तों और श्रद्धालुओं की भीड़ न हो, इसके लिए मंदिर के मुख्य द्वार पर ताला लगा दिए गए हैं। किसी भी भक्त को मां योगिनी मंदिर परिसर के अंदर पूजा करने की अनुमति नहीं दी गई है। पुजारी ने कहा कि घर में ही रह कर अपने मन में ध्यान कर मां योगिनी की पूजा अर्चना करें। कहा कि वह खुद बंद कमरे में पूजा करते हैं। मां योगिनी से यही प्रार्थना करता हूं कि इस संक्रामक बीमारी से लोगों को निजात दें। जिससे कि भारतवर्ष के लोग कोरोना जैसी बीमारी से मुक्ति पा सकें।