पशु तस्करी का सेफ जोन बना महेशपुर

महेशपुर:थाना क्षेत्र में रात के अँधेरे में होती है पशु की तस्करी की काला धंधा का खेल स्थानीय प्रशासन हो रहे हैं तस्करो के आगे फेल l ऐसा मना जाता है की महेशपुर थाना छेत्र में पशु तस्करी करने का सेफ जॉन बना हुवा है lयह सवाल तब खड़ा होता है जब शुक्रवार को एक मवेशी से भरा ट्रक पलट जाता है और उक्त मवेशी को स्थानीय लोगों ने अपने सूझ बुझ से जान बचाया जाता है |घटना यह है की थाना क्षेत्र के बाबूपुर गांव स्थित घुमाव सड़क पर हनुमान मंदिर के पास शुक्रवार सुबह मवेशियों से भरा ट्रक पलट गया जिसमे उक्त ट्रक में लगभग 25 से 30 की संख्या में मवेशी था हलांकि घटना के बाद मवेशी तस्कर एवं चालक वाहन छोड़कर फरार हो गया गया। इधर घटना की खबर मिलते ही पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुँचकर छानविन करते हुये उक्त ट्रक को जब्द कर लिया हलांकि पुलिस के जाने से पहले ही ग्रामीणों ने सभी मवेशी को अपना अपना हिसाब से लेकर फरार हो गया। सूत्र के अनुसार हिरणपुर से एक ट्रक संख्या डब्ल्यूबी 29-बी 0134 में मवेशी लोड कर पश्चिम बंगाल ले जाया जा रहा था इसी दौरान बाबूपुर गांव के पास घुमाव सड़क पर ट्रक असंतुलित होकर पलट गई। ट्रक पलटने की आवाज आसपास के ग्रामीणों को होते ही ग्रामीण घटनास्थल पहुंचकर देखा कि ट्रक में मवेशी लोड है और अधिकतर मवेशी गंभीर रूप से जख्मी हो चुके थे। वही स्थानीय ग्रामीणों ने मौके का फायदा उठाते हुए सभी मवेशी को ले गया |इधर पशु तस्करी की काला धंधा को लेकर स्थानीय लोगों में काफी चर्चा होते देखे जा रहे हैं l लोग अपनी दबी जुवान में कहा है की पशु तस्करी की इस धंधा में तस्करो को बर्दी वाले साहब संरक्षक बने हुये हैं और बर्दी की पावर दिखा कर और हर गुरुुवार और रविवार को ट्रक के माध्यम से पशु की तस्करी होती है चूँकि महेशपुर थाना पार कर बड़े आशानी से तस्कर धंधा को अंजाम देते हैं l सूत्रों की माने तो यह धंधा पिछले कई महीने से लगातार जारी है और पुलिस प्रशासन हाँथ पर हाँथ धरे खेला खेल रहे हैं l बताया जाता है की इस काला धंधा में कुछ राज निति दल के दलाल किस्म के नेता भी शामिल है जो हमेशा रैकी करने में लगे रहते हैं और वह नेता हर रोज हर वक्त थाना का चक्कर काटते रहते हैं |लोग कहते हैं की आखिर उस दलाल को किसकी इतना पावर मिली है की किसी भी अवैध धंधा में शामिल हो जाता है और जब प्रशासन की कार्रवाई होती है तो वह चंद मिनटो में थाना पहुँचकर पैरवी करने में जुट जाते है और ऐसे मामले होते हैं जो उसकी पैरवी से चढ़ावा चढ़ाकर अवैध धंधेबाज मुक्त हो जाता है l

क्या कहते हैं एसडीपीओ नवनीत एंथोनी हेम्ब्रोम ने कहा की मामले की सुचना मिली है और इस सम्बंध में थाना प्रभारी से स्पष्टीकरण माँगा गया है l उन्होने कहा की स्पष्टीकरण आने के बाद वरीय अधिकारी के निर्देशनुसार आगे की कर्रवाई की जायेगी l