जेटेट की परीक्षा कराने के लिए विधायक को सौंपा ज्ञापन

जावेद अख्तर की रिपोर्ट
हनवारा: आगामी प्राथमिक एंव माध्यमिक स्कूल शिक्षक नियुक्ति प्रकिया से पूर्व जेटेट 2021 परीक्षा आयोजित करने एवं अन्य राज्य के तर्ज पर सीटेट पास छात्रों को झारखंड राज्य शिक्षक नियुक्ति में मान्यता देने एवं शामिल करने की मांग को लेकर स्माइल ट्रस्ट के तत्वावधान में जेटेट एवं सीटेट पास अभ्यर्थियों ने महागामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह को ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2016 के बाद झारखंड में जेटेट की परीक्षा आयोजित नहीं हुई है । शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत प्रत्येक वर्ष झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा ( जेटेट ) अवश्य आयोजित होनी चाहिए थी। झारखंड के छात्रों का दुर्भाग्य है कि झारखंड अलग राज्य होने के बाद 20 वर्ष में केवल दो बार ही जेटेट परीक्षा का आयोजन हुआ है। जिसके कारण झारखंड के सभी शिक्षक प्रशिक्षित छात्र – छात्राएं, जो वर्ष 2016 के वाद लगभग 5 लाख छात्र – छात्राएं शिक्षक प्रशिक्षित कोर्स ( डीएलएड , बीएड ) पूर्ण कर चूके हैं, आगामी शिक्षक नियुक्ति प्रकिया मे शामिल होने से वंचित हो जाएगे । अन्य राज्य में शिक्षक बहाली प्रकिया में राज्य के शिक्षक पात्रता परीक्षा के अलावा केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा ( सीटेट ) पास छात्रों को भी राज्य शिक्षक नियुक्ति प्रकिया मे शामिल किया जाता रहा है। परन्तु झारखंड राज्य का दुर्भाग्य है कि अब तक भी झारखंड शिक्षक बहाली प्रकिया मे सीटेट पास अभ्यर्थियों को शामिल करने हेतु कोई दिशा निर्देश राज्य सरकार के तरफ से प्राप्त नही हुआ है। जिससे झारखंड के सीटेट पास छात्र – छात्राएं भी आगामी प्राथमिक एंव माध्यमिक स्कूल शिक्षाक बहाली प्रकिया मे शामिल होने से वचित हो जाएंगे जो छात्र हित में उचित नही होगा। साथ ही अभ्यर्थियों ने विधायक दीपिका पांडेय सिंह से मांग की है कि इस मामले को विधानसभा सत्र के प्रश्नकाल में उठाया जाए ताकि हम सभी राज्य के हतोत्साहित युवा छात्र – छात्राओं की मांग पर सहानुभूति पूर्वक विचार किया जा सके। इस मौके पर शहादत हुसैन, इरशाद अलाम, सुमन कुमार सुमन, रमन कुमार रमन, अनिल कुमार, विकास कुमार, अशफाक एवं जुलकर नैन सहित दर्जनों सीटेट पास अभ्यर्थी उपस्थित थे।