बरही में अकीदत व सादगी से मनाया मोहर्रम

बरही (हजारीबाग) : मानवता की रक्षा के लिए शहीद होने वाले हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को बरही में लोगों ने याद किया। वहीं कोविड नियमों का पालन करते हुए सभी जगह सादगी और शांति व सौहार्द्र वातावरण में मुहर्रम मनाया। बरही शहर से लेकर गांव तक में कहीं भी किसी तरह का सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं हुआ। लोगों ने घरों पर ही मोहर्रम मनाया। वहीं पुलिस भी सुरक्षा को लेकर सतर्क रही। बरही के कोनरा, बरसोत, रसोइयाधमना, धनवार, कोयली, मोहगढ़ा, गरजामो, बेजलड़ीह, भंडारों, हथगड्डा, गुडियो , मलकोको व पड़रिया आदि सभी इलाकों में मुहर्रम सादगी साथ मनाया गया। कहीं कहीं पारंपरिक लाठी खेल हुआ। कोविड नियमों का पालन करते हुए अगल अलग गांवों में सादगी साथ मनाया गया मुहर्रम के अवसर पर जिप प्रतिनिधि मो कयूम, मुखिया दशरथ यादव, दुखन पासवान, सीता देवी, बासुदेव यादव आदि उपस्थित हुए। मौके पर मो. केयूम ने कहा कि मानवता की रक्षा के लिए अपने 72 साथियों के साथ बलिदान देने वाले इमाम हुसैन की याद में मनाया जाने वाला अश्क व गम का पर्व मोहर्रम सादगी से सभी जगह मनाया गया।