निरंजन पोद्दार जिला परिषद के उपाध्यक्ष निर्वाचित

– सर्वसम्मति से हुआ चुनाव
– 19 माह से रिक्त था जिप अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का पद

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: जिला परिषद सदस्य निरंजन पोद्दार जिला परिषद के उपाध्यक्ष निर्वाचित किए गए। उनका निर्वाचन सर्वसम्मति से हुआ। 31 जनवरी 2020 को जिला परिषद सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव द्वारा तत्कालीन अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को हटा दिया था। 19 माह से जिला परिषद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के चल रहा था।
समाहरणालय स्थित सभागार में जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) सह उपायुक्त भोर सिंह यादव की अध्यक्षता में शनिवार को जिला परिषद कार्यकारी समिति के उपाध्यक्ष का निर्वाचन संपन्न कराया गया। उप विकास आयुक्त, गोड्डा-सह-मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, जिला परिषद, गोड्डा चंदन कुमार के द्वारा त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं के गठन के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।
ज्ञात हो कि जिला परिषद गोड्डा का अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का पद दिनांक 31.01.2020 को इनके विरुद्ध लाए गए अविश्वास प्रस्ताव बहुमत से पारित हो जाने के कारण रिक्त हुआ था। इस बीच अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के निर्वाचन की तिथि पिछले वर्ष तय की गई थी। लेकिन कोरोना काल में लागू लॉक डाउन के कारण निर्वाचन टाल दिया गया था। पंचायती राज संस्थाओं के विघटन की तिथि को अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के पद रिक्त रहने के कारण जिला परिषद कार्यकारी समिति गोड्डा के गठन में कठिनाई हो रही थी।
उपाध्यक्ष के निर्वाचन के लिए शनिवार को आहूत बैठक के दौरान नाम निर्देशन पत्र दाखिल करने हेतु निर्धारित समयावधि में मात्र एक अभ्यर्थी निरंजन पोद्दार, ग्राम-बड़ी मनियनकला, प्रखंड- ठाकुरगंगटी द्वारा नाम निर्देशन पत्र दाखिल किया गया। अभ्यर्थी के प्रस्तावक गौरी प्रिया एवं समर्थक रामजी साह थे। नाम निर्देशन पत्र की संवीक्षा अवधि के दौरान किसी प्रकार की आपत्ति प्राप्त नहीं हुई।
इस प्रकार जिला परिषद कार्यकारी समिति के उपाध्यक्ष पद के लिए एक ही अभ्यर्थी रहने के फलस्वरुप श्री पोद्दार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया तथा उन्हें निर्वाचन प्रमाण-पत्र दिया गया।
जिला परिषद कार्यकारी समिति, गोड्डा के उपाध्यक्ष के निर्वाचन हेतु 25 सदस्यों में से 21 जिला परिषद के सदस्यों के द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज की गई। तीन जिला परिषद के सदस्य अनुपस्थित रहे एवं एक जिला परिषद के सदस्य की पूर्व में मृत्यु हो चुकी है।
मौके पर जिला पंचायत राज पदाधिकारी जेसी विनीता केरकेट्टा, सहायक निदेशक, सामाजिक सुरक्षा पदाधिकारी अनिल टुडू, प्रधान लिपिक, जिला पंचायत राज कार्यालय ललन कुमार ठाकुर आदि उपस्थित थे।