एनएसयूआई ने रांची विवि की कुलपति को तीन घंटो तक बनाया बंधक

एम.एस.सी फाइनल सेमेस्टर की विशेष परीक्षा कराने को लेकर परीक्षा बोर्ड में निर्णय लिया जाएगा : कुलपति

रांची:  कांग्रेस छात्र संगठन झारखंड एन.एस.यू.आई के प्रदेश उपाध्यक्ष इंदरजीत सिंह के नेतृत्व में रांची विश्वविद्यालय के एम.एस.सी फाइनल सेमेस्टर की विशेष परीक्षा कराने को लेकर सैकड़ो विद्यार्थियों ने अपनी मांगों को लेकर रांची विश्विद्यालय में तालाबंदी की एव प्रदर्शन किया। तीन घंटो तक विश्विद्यालय में कुलपति, परीक्षा नियंत्रण एव सभी पदाधिकारियों को बंद कर दिया गया। दोपहर 1 बजे से तालाबंदी की गई। विश्विद्यालय प्रशासन मुर्दाबाद, छात्रों को हक़ देना होगा के नारों के साथ विश्वविद्यालय गूंज उठा। विदित हो कि
एम.एस.सी फाइनल सेमेस्टर के गणित और जूलॉजी के सैकड़ो विद्यार्थी फेल हो गए है। कोरोना काल न सही ढंग से पढ़ाई हुई न क्लासेज। जल्दबाजी में फाइनल वालो का परीक्षा लिया गया। दो विषय मे 50% से ज्यादा विद्यार्थियों को फैल कर दिया गया। पुराने सत्र के विद्यार्थियों की विशेष परीक्षा कराई गई थी उसी आधार पे इनका भी करने की मांग है। एक सप्ताह पहले परीक्षा नियंत्रक ने कहा था कि 5 दिन का समय दीजिये सबका विशेष परीक्षा करवा दिया जाएगा। लेकिन यूनिवर्सिटी के लोग अपनी बातों से मुकर गए। भविष्य की चिंता को लेकर सभी आक्रोशित छात्र छात्राये यूनिवर्सिटी पहुची एव प्रदर्शन किया। दो घंटे तक विश्वविद्यालय का कोई भी पदाधिकारी मिलने नही आया। विश्वविद्यालय ने हंगामा होता देख पुलिस प्रशासन को बुला लिया। प्रशाशन ने गेट खोलने का आर्डर दिया अन्यथा केस करने की धमकी दी। प्रशासन के इस रवैये को देखते हुए सभी छात्र छात्र आक्रोशित हो गए एव नारेबाजी करने लगे।मौके पर एन.एस.यू.आई के प्रदेश उपाध्यक्ष इंदरजीत सिंह ने कहा कि कुलपति मैडम सभी को वार्ता के लिए बुलाये अन्यथा धरना जारी रहेगा। कुछ देर बाद 10 लोगो के प्रतिनिधिमंडल को वार्ता में बुलाया गया। वार्ता में एन.एस.यू.आई ने सभी फेल विद्यार्थियों का लिस्ट एव पुराने सत्र की विशेष परीक्षा की तिथि की कॉपी जमा की। वार्ता में फैसला लिया गया कि परीक्ष बोर्ड की बैठक में इसका निर्णय लिया जाएगा और छात्र हित मे फैसला लिया जाएगा। उसके बाद सभी ने धरना समाप्त किया। आज के कार्यक्रम में इंदरजीत सिंह, आकाश, अमन, दीपक, रीना, स्वाति, पुष्पा, प्रियंका, डेविड, काजल, राहुल, विक्की, अंकित एव सैकड़ो छात्र छात्राये मौजूद थी।