रमजान के पाक महीने में घरों में ही लोग पढ़ रहे नमाज

जावेद अख्तर की रिपोर्ट
हनवारा: कोरोना महामारी के बीच पाक माह रमजानुल मुबारक में लोग लॉकडाउन का पालन करते हुए घर में रहकर नमाज पढ़ रहे हैं। लोग सरकारी गाइड लाइन के अनुसार, अपने अपने घर में नमाज अदा कर रहे हैं। शुक्रवार को लोगों ने मस्जिद, मदरसा व ईदगाह की बजाय अपने अपने घर में रहकर अलविदा जुमे की नमाज अदा की। अलविदा जुमा की नमाज को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला। मालूम हो कि रमजान माह में एक माह तक रोजा रखने के बाद चांद दिखने के पश्चात ईद मनाया जाता है। इस माह का यह आखिरी जुमा था। कोरोना संकट नहीं होने की स्थिति में बड़ी संख्या में लोग मस्जिद, ईदगाह व मदरसा में अलविदा जुमा का नमाज पढ़ते थे। मगर कोरोना संकट के कारण लोग घरों में रहकर ही रोजा रखते हुए नमाज पढ़ रहें हैं। लोगों द्वारा लॉकडाउन का अनुपालन करते हुए सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने की बजाय व्यक्तिगत रूप से नमाज अदा की जा रही है। अलविदा जुमा की नमाज को ले क्षेत्र में लोगों ने घरों में रहकर ही नमाज अदा की। जैसे जैसे ईद का समय नजदीक आ रहा है लोगों का उत्साह बढ़ता जा रहा है। ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही है कि 13 मई को चांद का दीदार होगा तथा 14 मई को ईद मनाया जा सकेगा।