11 को सांकेतिक हड़ताल करेंगे राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित शिक्षक किशोर वर्मा

लोहरदगा : जिला शिक्षा अधीक्षक अखिलेश चौधरी के दमनात्मतक कार्रवाई, भयादोहन के तहत व्यक्तिगत विद्वेष की भावना से राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक को अपमानित करने, पेंशनादि कार्यों मे बाधा उत्त्पन्न कर विभागीय कार्रवाई की धमकी देकर प्रताड़ित करने के विरोध मे शनिवार को 12 बजे से 4 बजे अपराह्न तक़ एक दिवसीय सांकेतिक सत्याग्रह (भूख हड़ताल ) किशोर कुमार वर्मा द्वारा जिला समाहरणालय के मैदान मे किया जायेगा। यदि इस कार्यक्रम के बाद भी प्रताड़ना और पेंशनादि के साथ साथ उच्च न्यायालय के न्यायादेश का अनुपालन तथा क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल रांची के आदेश का क्रियान्वयन नहीं किया जाता है तो परिवार बाल बच्चों सहित आमरण अनशन तथा भविष्य मे आत्म दाह जैसे कार्यक्रम की ओर भी कदम बढ़ाये जा सकते है, जिसकी सारी की सारी जवाबदेही जिला शिक्षा अधीक्षक अखिलेश कुमार चौधरी की होगी। चुंकि इसी माह सितम्बर मे किशोर कुमार वर्मा सेवानिवृत होने वाले है और जिला का गौरव बढ़ा कर एक सरकारी विद्यालय को 5 स्टार A ग्रेड करने और प्रथम नवाचार रेल बोगी वर्ग कक्ष को बना कर स्कूल को आकर्षक बना कर बच्चों का ठहराव एवं 2017 मे मुख्यमंत्री पुरस्कार तथा 2019-20 का मुख्यमंत्री विद्यालय स्वछता पुरस्कार मे राज्य भर मे अग्रणी स्थान दिला कर जिला का मान सम्मान के साथ गौरव बढ़ाने का कार्य श्री वर्मा द्वारा किया गया है। बच्चों के सर्वांगीण और चहुँमुखी विकास कराने का भी सार्थक प्रयास किया गया है। अब अंतिम समय मे प्रताड़ना और मनोबल गिराने से अन्य शिक्षकों मे भी इसका प्रतिकूल असर निश्चित रूप से पड़ेगा। इसलिए झुकने से अच्छा लड़ाई लड़ कर एक राष्ट्रनिर्माता का धर्म का पालन करने का साहसिक यत्न किया जा रहा है। इस सम्बन्ध मे राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक किशोर कुमार वर्मा द्वारा भारत के प्रधान मंत्री, झारखण्ड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, वित्त मंत्री झारखण्ड सरकार सह विधायक लोहरदगा रामेश्वर उरॉंव, सांसद सुदर्शन भगत, राजयसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू, सांसद समीरा उरॉंव, पूर्व विधायक सुखदेव भगत, पूर्व विधायक लोहरदगा कमल किशोर भगत एवं सभी राजनितिक पार्टियों के अध्यक्ष /महामंत्री, सभी सामाजिक संघठन, सभी शिक्षक संघठन लोहरदगा, मानवाधिकार आयोग भारत नई दिल्ली /झारखण्ड रांची को सूचनार्थ और आवश्यक कार्यार्थ समर्पित करते हुए जिला शिक्षा अधीक्षक लोहरदगा के अत्याचार से मुक्ति और न्याय दिलाने की गुहार के साथ सहयोग देने की आग्रह किया गया है ।