माइकिंग द्वारा पल्स पोलियो अभियान का प्रचार प्रसार किया जा रहा है

पाकुड़: नवजात शिशुओं में विकलांगता होने के मुख्य कारणों में से एक पोलियो को जड़ से खत्म करने के लिए जिले में अंतर्राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत बूथ पर 26 सितंबर 2021 और डोर टू डोर 27, 28 सितंबर 2021 से शुरू किया जाएगा। पोलियो एक गंभीर बीमारी है, जो किसी भी नवजात शिशु या व्यक्तियों के शरीर को लकवाग्रस्त कर देता है। चूंकि बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बहुत ही कम होती है। इसलिए उसे इस बीमारी से संक्रमित होने का खतरा ज्यादा होता है। इस संक्रमण को नष्ट करने के लिए जन्म से लेकर पांच वर्ष तक के नवजात शिशुओं को पोलियो की खुराक पिलाई जाती है।
पल्स पोलियो कार्यक्रम के प्रचार प्रसार हेतु शहरी क्षेत्र पाकुड़ के लिए दो प्रचार वाहन को जिला आर सी एच पदाधिकारी डॉ मनीष कुमार सिन्हा द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया मौके पर डॉक्टर शिशिर कुमार, एस एम ओ, डब्ल्यूएचओ, दीपक कुमार ,डीडीएम, विनोद कुमार वर्मा अर्बन हेल्थ मैनेजर ,फहीम अख्तर , लोक स्वास्थ्य प्रबंधक उपस्थित थे।