सहियाओं ने अपने सात सूत्री मांग को लेकर किया आंशिक विरोध

महेशपुर :महेशपुर सीएचसी साहिया मंच की ओर से शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में सहिया कौशिला कुमारी देवी के नेतृत्व में सैकड़ो सहियाओं ने अपनी सात सुत्री की मांग को लेकर तीन घंटे का आंशिक विरोध किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए महेशपुर सीएचसी साहिया मंच की अध्यक्ष कौशिला कुमारी देवी ने बताया कि हम सभी सहिया अपनी सात सूत्री की मांगों को लेकर सीएचसी परिसर पर आंशिक विरोध किया गया जिसमे में मुख्य रूप से विगत वर्ष 2008 से वर्तमान तक बिना नियुक्ति पत्र पर कार्य संपादित कराने, एवं हर माह के अंत में मामूली प्रोत्साहन राशि समय पर भुगतान न देने, कोविड-19 का अतिरिक्त कार्यभार साहिया के ऊपर डालने, सीएचसी में सहियाओं को दी जाने वाली दवाई उत्पादन से लेकर समाप्त तिथि के 20 या 25 दिन पूर्व दी जाती है जिसका वितरण गांव के लिए कहा जाता है और कौन दवाई किस बीमारी का है इसका प्रशिक्षण नहीं दिया जाता है, अस्पताल में संस्थागत प्रसव कराने हेतु दलाल छवि रविदास द्वारा लड़का जन्म लेने पर 500 तथा लड़की जन्म लेने पर 400 रुपया लाभार्थी से वसूल किया जाता है, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र निकालने पर 250 से 300 मांग किया जाता है जो यह निशुल्क प्राप्त होने का प्रावधान है, सहिया द्वारा प्रसव हेतु गर्भवती को अस्पताल पहुंचाया जाता है यहां प्रसव नहीं होने पर रेफर की स्थिति में गाड़ी का भुगतान होता है परंतु सहिया को भुगतान नहीं होता है ,सहिया द्वारा माह वार प्रोत्साहन राशि जमा किया गया राशि से कम भुगतान किया जाता है ,सहिया अपनी सात सुत्री मांगो में मांग की है कि प्रत्येक माह का राशि का पीडीएफ फाइल बनाकर ग्रुप में डाला जाए या नोटिस बोर्ड में चिपकाया जाए। वहीं महेशपुर सीएचसी साहिया मंच की ओर से अध्यक्ष कौशिला कुमारी के नेतृत्व में सात सूत्री मांग पत्र से संबंधित मांग पत्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महेशपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी महेशपुर को सौंपा गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को सौंपे गए मांग पत्र में सहियाओं के द्वारा उनका मानदेय 15000 कि जाने का भी उल्लेख की है। मौके पर विमला हेंब्रम, सरिता किस्कू, रंगीना बेगम, आरफा खातून, कनक लता पाल, नसरीन बेगम, कावेरी मंडल, शमीमा खातून, सोनेका लेट, रीना देवी, गुरु प्यारी देवी, ज्योति देवी, खालिदा बीबी, निर्मला सोरेन, विमला देवी, शेमफुल सोरेन सहित सैकड़ो सहिया उपस्थित थीं।