बीज वितरण सह कृषि रथ किया गया रवाना

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुण्डा ने जिला प्रशासन, महिला किसान और स्थानीय विधायक से कृषि – विकास पर की वर्चुवल बैठक

खूंटी: खूंटी जिला समाहरणालय में आज कृषि पशुपालन एवम सहकारिता विभाग झारखण्ड सरकार द्वारा 2021 के लिए 50 फीसदी अनुदान पर किसानों को बीज उपलब्ध कराए जाने वाले बीज के वितरण का ऑनलाइन शुभारंभ जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, स्थानीय विधायक नीलकंठ सिंह मुण्डा और उपायुक्त शशि रंजन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। साथ ही समाहरणालय परिसर में कृषि जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। कृषि जागरूकता रथ गांव गांव घूमकर सरकार की वर्त्तमान कृषि संबंधी योजनाओं की पूरी जानकारी देंगे और खाद बीज की प्राप्ति किसान कैसे “seed on call” के माध्यम से घर बैठे प्राप्त करेंगे इसकी भी जानकारी दी जाएगी। साथ ही समाहरणालय सभागार में आयोजित वर्चुवल बैठक में किसानों के बीच मक्का, मडुआ और धान के बीज का वितरण किया गया।

वर्चुवल बैठक में जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कृषि उत्पादों का बाजार कैसे आगे बढ़े। किसानों को उनकी मेहनत का अधिक से अधिक लाभ कैसे मिले इसपर ठोस रणनीति बनाकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में भी जिला को आगे के जाने का प्रयास किया जा रहा है । साथ ही कहा कि अधिक से अधिक लोगो का टीकाकरण हो इसके लिए प्रयास होना चाहिए। कोरोना काल मे हर वर्ग को प्रभाव पड़ा है। जिले के 3 हजार किसान तरबूज की खेती किये है। लेकिन बाजार सही से नही मिल सका। आम का भी अच्छा उत्पादन हुआ है। उसका भी बाजार कैसे हो इस पर सोचना चाहिए। किसान भी नेटवर्क के साथ जुड़ रहे हैं। कृषि उत्पादन बाजार समिति पर और अधिक ध्यान देने की जरूरत है।

उपायुक्त ने कहा कि 2500 एकड़ में आम लगाने का लक्ष्य है। बहुत अच्छी मात्रा में आम का उत्पादन होगा। अगले वर्ष से आम की प्रोसेसिंग और बाजार उपलब्ध किया जायेगा। तोरपा में एफपीओ बनाया गया है। और एफपीओ बनाने का लक्ष्य है। एसीए से राशि भी दिया जाएगा। पीला तरबूज की भी मांग बढ़ी है। इससे जिले की अलग पहचान बनी है।
तरबूज जो नही बिक रहा था तो 100 मीट्रिक टन का उठाव किया गया। अफीम की खेती के लिए नया विकल्प बनेगा। कई किसान 3 से 4 लाख रुपये कमाए हैं। मनरेगा प्लांट में मेडिसिनल प्लांट की भी खेती की जाएगी

नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा मानसून आने से पहले ही बीज कृषकों के बीच उपलब्ध हो रहा है। इससे कृषकों को लाभ मिलेगा। खूंटी कृषि पर ही निर्भर करते हैं। खूंटी जिला कृषि में अग्रणी रहा है। धान, मक्का, मडुआ, तरबूज सही अन्य खेती में आगे रहा है। किसानों को फर्ज बनता है कि जो भी बीज मिल रहा है उसका खेती में उपयोग करें। कर्रा में मनरेगा पार्क बनेगा। टेंडर हो गया है। जिससे लोगों को सीखने और देखने का मौका मिलेगा। बीज कब लगाना होगा इसकी जानकारी किसान मित्र से दें। कृषकों से कहा की हर प्रखंड में कॉल सेंटर खोला गया है। उससे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। किसानो के घर तक बीज पहुंच जाएगा। प्रचार प्रसार करने की जरूरत है। धान के बीज का 15 दिन के अंदर वितरण करने का निर्देश दिया। यास तूफान में बर्बाद हुई फसल का मुआवजा देने का मांग रखा है। जो घर टूटे हैं उनका सर्वे करने और मुआवजा देने के लिए कहा। किसानों से कोरोना से बचने और टीका लेने का अपील किया। उन्होंने किसानों को गांव में जाकर लोगों को प्रेरित करने के लिए कहा। कोरोना से बचाव के लिए टीका ही कवच है। टीका से कुछ नही होगा। हम भी लिए हैं जिले के सभी अधिकारी भी लिए हैं किसी प्रकार की बात होती तो ये लोग भी नही लेते। भ्रांति फैलाने वाले समाज विरोधी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *